Skip to main content

फुसिलत आयत ४५ | Fussilat 41:45

And certainly
وَلَقَدْ
और अलबत्ता तहक़ीक़
We gave
ءَاتَيْنَا
दी हमने
Musa
مُوسَى
मूसा को
the Book
ٱلْكِتَٰبَ
किताब
but disputes arose
فَٱخْتُلِفَ
पस इख़्तिलाफ़ किया गया
therein
فِيهِۗ
उसमें
And had it not been
وَلَوْلَا
और अगर ना होती
(for) a word
كَلِمَةٌ
एक बात
that preceded
سَبَقَتْ
जो पहले हो चुकी
from
مِن
आपके रब की तरफ़ से
your Lord
رَّبِّكَ
आपके रब की तरफ़ से
surely would have been settled
لَقُضِىَ
अलबत्ता फ़ैसला कर दिया जाता
between them
بَيْنَهُمْۚ
दर्मियान उनके
But indeed they
وَإِنَّهُمْ
और बेशक वो
surely (are) in
لَفِى
अलबत्ता शक में हैं
doubt
شَكٍّ
अलबत्ता शक में हैं
about it
مِّنْهُ
उसकी तरफ़ से
disquieting
مُرِيبٍ
बेचैन करने वाले

Walaqad atayna moosa alkitaba faikhtulifa feehi walawla kalimatun sabaqat min rabbika laqudiya baynahum wainnahum lafee shakkin minhu mureebin

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

हमने मूसा को भी किताब प्रदान की थी, फिर उसमें भी विभेद किया गया। यदि तुम्हारे रब की ओर से पहले ही से एक बात निश्चित न हो चुकी होती तो उनके बीत फ़ैसला चुका दिया जाता। हालाँकि वे उसकी ओर से उलझन में डाल देनेवाले सन्देह में पड़े हुए है

English Sahih:

And We had already given Moses the Scripture, but it came under disagreement. And if not for a word [i.e., decree] that preceded from your Lord, it would have been concluded between them. And indeed they are, concerning it [i.e., the Quran], in disquieting doubt.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(और नहीं सुनते) और हम ही ने मूसा को भी किताब (तौरैत) अता की थी तो उसमें भी इसमें एख्तेलाफ किया गया और अगर तुम्हारे परवरदिगार की तरफ से एक बात पहले न हो चुकी होती तो उनमें कब का फैसला कर दिया गया होता, और ये लोग ऐसे शक़ में पड़े हुए हैं जिसने उन्हें बेचैन कर दिया है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा हम प्रदान कर चुके हैं मूसा को पुस्तक (तौरात)। तो उसमें भी विभेद किया गया और यदि एक बात पहले ही से निर्धारित न होती[1] आपके पालनहार की ओर से, तो निर्णय कर दिया जाता उनके बीच। निःसंदेह, वह उनके विषय में संदेह में डाँवाडोल हैं।