Skip to main content

अल-वाकिया आयत ७७ | Al-Waqi’ah 56:77

Indeed it
إِنَّهُۥ
बेशक वो
(is) surely a Quran
لَقُرْءَانٌ
यक़ीनन क़ुरआन है
noble
كَرِيمٌ
इज़्ज़त वाला

Innahu laquranun kareemun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

निश्चय ही यह प्रतिष्ठित क़ुरआन है

English Sahih:

Indeed, it is a noble Quran.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

कि बेशक ये बड़े रूतबे का क़ुरान है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

वास्तव में, ये आदरणीय[1] क़ुर्आन है।