Skip to main content

मरियम आयत ३५ | Mariyam 19:35

Not
مَا
नहीं
(it) is
كَانَ
है (लायक़)
for Allah
لِلَّهِ
अल्लाह के
that
أَن
कि
He should take
يَتَّخِذَ
वो बनाए
any son
مِن
कोई औलाद
any son
وَلَدٍۖ
कोई औलाद
Glory be to Him!
سُبْحَٰنَهُۥٓۚ
पाक है वो
When
إِذَا
जब
He decrees
قَضَىٰٓ
वो फ़ैसला करता है
a matter
أَمْرًا
किसी काम का
then only
فَإِنَّمَا
तो बेशक
He says
يَقُولُ
वो कहता है
to it
لَهُۥ
उसे
"Be"
كُن
हो जा
and it is
فَيَكُونُ
तो वो हो जाता है

Ma kana lillahi an yattakhitha min waladin subhanahu itha qada amran fainnama yaqoolu lahu kun fayakoonu

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

अल्लाह ऐसा नहीं कि वह किसी को अपना बेटा बनाए। महान और उच्च है, वह! जब वह किसी चीज़ का फ़ैसला करता है तो बस उसे कह देता है, 'हो जा!' तो वह हो जाती है। -

English Sahih:

It is not [befitting] for Allah to take a son; exalted is He! When He decrees an affair, He only says to it, "Be," and it is.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

खुदा कि लिए ये किसी तरह सज़ावार नहीं कि वह (किसी को) बेटा बनाए वह पाक व पकीज़ा है जब वह किसी काम का करना ठान लेता है तो बस उसको कह देता है कि ''हो जा'' तो वह हो जाता है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

अल्लाह का ये काम नहीं कि अपने लिए कोई संतान बनाये, वह पवित्र है! जब वह किसी कार्य का निर्णय करता है, तो उसके सिवा कुछ नहीं होता कि उसे आदेश दे किः "हो जा" और वह हो जाता है।