Skip to main content

अल-अम्बिया आयत ४ | Al-Ambiya 21:4

He said
قَالَ
कहा
"My Lord
رَبِّى
रब मेरा
knows
يَعْلَمُ
जानता है
the word
ٱلْقَوْلَ
हर बात को
in
فِى
आसमान में
the heavens
ٱلسَّمَآءِ
आसमान में
and the earth
وَٱلْأَرْضِۖ
और ज़मीन में
And He
وَهُوَ
और वो
(is) the All-Hearer
ٱلسَّمِيعُ
ख़ूब सुनने वाला है
the All-Knower"
ٱلْعَلِيمُ
ख़ूब जानने वाला है

Qala rabbee ya'lamu alqawla fee alssamai waalardi wahuwa alssamee'u al'aleemu

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

उसने कहा, 'मेरा रब जानता है उस बात को जो आकाश और धरती में हो। और वह भली-भाँति सब कुछ सुनने, जाननेवाला है।'

English Sahih:

He [the Prophet (^)] said, "My Lord knows whatever is said throughout the heaven and earth, and He is the Hearing, the Knowing."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(तो उस पर) रसूल ने कहा कि मेरा परवरदिगार जितनी बातें आसमान और ज़मीन में होती हैं खूब जानता है (फिर क्यों कानाफूसी करते हो) और वह तो बड़ा सुनने वाला वाक़िफ़कार है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

आप कह दें कि मेरा पालनहार जानता है प्रत्येक बात को, जो आकाश तथा धरती में है और वह सब सुनने-जानने वाला है।