Skip to main content

अन-नम्ल आयत ३० | An-Naml 27:30

Indeed it
إِنَّهُۥ
बेशक वो
(is) from
مِن
सुलैमान की तरफ़ से है
Sulaiman
سُلَيْمَٰنَ
सुलैमान की तरफ़ से है
and indeed it (is)
وَإِنَّهُۥ
और बेशक वो
"In the name
بِسْمِ
साथ नाम
(of) Allah
ٱللَّهِ
अल्लाह के है
the Most Gracious
ٱلرَّحْمَٰنِ
जो बड़ा मेहरबान है
the Most Merciful
ٱلرَّحِيمِ
निहायत रहम करने वाला है

Innahu min sulaymana wainnahu bismi Allahi alrrahmani alrraheemi

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

वह सुलैमान की ओर से है और वह यह है कि अल्लाह के नाम से जो बड़ा कृपाशील, अत्यन्त दयावान है

English Sahih:

Indeed, it is from Solomon, and indeed, it is [i.e., reads]: 'In the name of Allah, the Entirely Merciful, the Especially Merciful,

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

सुलेमान की तरफ से है (ये उसका सरनामा) है बिस्मिल्लाहिररहमानिरहीम

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

वह सुलैमान की ओर से है और वह अत्यंत कृपाशील दयावान् के नाम से (आरंभ) है।