Skip to main content

लुकमान आयत २१ | Luqman 31:21

And when
وَإِذَا
और जब
it is said
قِيلَ
कहा जाता है
to them
لَهُمُ
उन्हें
"Follow
ٱتَّبِعُوا۟
पैरवी करो
what
مَآ
उसकी जो
Allah (has) revealed"
أَنزَلَ
नाज़िल किया
Allah (has) revealed"
ٱللَّهُ
अल्लाह ने
they say
قَالُوا۟
वो कहते हैं
"Nay
بَلْ
बल्कि
we will follow
نَتَّبِعُ
हम पैरवी करेंगे
what
مَا
उसकी जो
we found
وَجَدْنَا
पाया हमने
on it
عَلَيْهِ
उस पर
our forefathers"
ءَابَآءَنَآۚ
अपने आबा ओ अजदाद को
Even if
أَوَلَوْ
क्या भला अगर
Shaitaan was
كَانَ
हो
Shaitaan was
ٱلشَّيْطَٰنُ
शैतान
(to) call them
يَدْعُوهُمْ
वो बुलाता उन्हें
to
إِلَىٰ
तरफ़ अज़ाब के
(the) punishment
عَذَابِ
तरफ़ अज़ाब के
(of) the Blaze!
ٱلسَّعِيرِ
भड़कती हुई आग के

Waitha qeela lahumu ittabi'oo ma anzala Allahu qaloo bal nattabi'u ma wajadna 'alayhi abaana awalaw kana alshshaytanu yad'oohum ila 'athabi alssa'eeri

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

अब जब उनसे कहा जाता है कि 'उस चीज़ का अनुसरण करो जो अल्लाह न उतारी है,' तो कहते है, 'नहीं, बल्कि हम तो उस चीज़ का अनुसरण करेंगे जिसपर हमने अपने बाप-दादा को पाया है।' क्या यद्यपि शैतान उनको भड़कती आग की यातना की ओर बुला रहा हो तो भी?

English Sahih:

And when it is said to them, "Follow what Allah has revealed," they say, "Rather, we will follow that upon which we found our fathers." Even if Satan was inviting them to the punishment of the Blaze?

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और जब उनसे कहा जाता है कि जो (किताब) ख़ुदा ने नाज़िल की है उसकी पैरवी करो तो (छूटते ही) कहते हैं कि नहीं हम तो उसी (तरीक़े से चलेंगे) जिस पर हमने अपने बाप दादाओं को पाया भला अगरचे शैतान उनके बाप दादाओं को जहन्नुम के अज़ाब की तरफ बुलाता रहा हो (तो भी उन्ही की पैरवी करेंगे)

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और जब कहा जाता है उनसे कि पालन करो उस क़ुर्आन का, जिसे उतारा है अल्लाह ने, तो कहते हैं: बल्कि हम तो उसी का पालन करेंगे, जिसपर अपने पूर्वजों को पाया है। क्या यद्यपि शैतान उन्हें बुला रहा हो अल्लाह की यातना की[1] ओर?