Skip to main content
bismillah
الٓمٓ
ا ل م

Aliflammeem

अलिफ़॰ लाम॰ मीम॰

Tafseer (तफ़सीर )
تِلْكَ
ये
ءَايَٰتُ
आयात हैं
ٱلْكِتَٰبِ
किताब
ٱلْحَكِيمِ
हिकमत वाली की

Tilka ayatu alkitabi alhakeemi

(जो आयतें उतर रही हैं) वे तत्वज्ञान से परिपूर्ण किताब की आयते हैं

Tafseer (तफ़सीर )
هُدًى
हिदायत
وَرَحْمَةً
और रहमत है
لِّلْمُحْسِنِينَ
मोहसिनीन/नेकोकारों के लिए

Hudan warahmatan lilmuhsineena

मार्गदर्शन और दयालुता उत्तमकारों के लिए

Tafseer (तफ़सीर )
ٱلَّذِينَ
वो जो
يُقِيمُونَ
क़ायम करते हैं
ٱلصَّلَوٰةَ
नमाज़
وَيُؤْتُونَ
और वो अदा करते हैं
ٱلزَّكَوٰةَ
ज़कात
وَهُم
और वो
بِٱلْءَاخِرَةِ
आख़िरत पर
هُمْ
वो
يُوقِنُونَ
वो यक़ीन रखते हैं

Allatheena yuqeemoona alssalata wayutoona alzzakata wahum bialakhirati hum yooqinoona

जो नमाज़ का आयोजन करते है और ज़कात देते है और आख़िरत पर विश्वास रखते है

Tafseer (तफ़सीर )
أُو۟لَٰٓئِكَ
यही लोग हैं
عَلَىٰ
हिदायत पर
هُدًى
हिदायत पर
مِّن
अपने रब की तरफ़ से
رَّبِّهِمْۖ
अपने रब की तरफ़ से
وَأُو۟لَٰٓئِكَ
और यही लोग हैं
هُمُ
वो
ٱلْمُفْلِحُونَ
जो फ़लाह पाने वाले हैं

Olaika 'ala hudan min rabbihim waolaika humu almuflihoona

वही अपने रब की और से मार्ग पर हैं और वही सफल है

Tafseer (तफ़सीर )
وَمِنَ
और लोगों में से कोई है
ٱلنَّاسِ
और लोगों में से कोई है
مَن
जो
يَشْتَرِى
ख़रीदता है
لَهْوَ
खेल तमाशा (वाली)
ٱلْحَدِيثِ
बात
لِيُضِلَّ
ताकि वो भटकाए
عَن
अल्लाह के रास्ते से
سَبِيلِ
अल्लाह के रास्ते से
ٱللَّهِ
अल्लाह के रास्ते से
بِغَيْرِ
बग़ैर
عِلْمٍ
इल्म के
وَيَتَّخِذَهَا
और वो बनाता है उसे
هُزُوًاۚ
मज़ाक़
أُو۟لَٰٓئِكَ
यही लोग हैं
لَهُمْ
उनके लिए
عَذَابٌ
अज़ाब है
مُّهِينٌ
ज़लील करने वाला

Wamina alnnasi man yashtaree lahwa alhadeethi liyudilla 'an sabeeli Allahi bighayri 'ilmin wayattakhithaha huzuwan olaika lahum 'athabun muheenun

लोगों में से कोई ऐसा भी है जो दिल को लुभानेवाली बातों का ख़रीदार बनता है, ताकि बिना किसी ज्ञान के अल्लाह के मार्ग से (दूसरों को) भटकाए और उनका परिहास करे। वही है जिनके लिए अपमानजनक यातना है

Tafseer (तफ़सीर )
وَإِذَا
और जब
تُتْلَىٰ
पढ़ी जाती हैं
عَلَيْهِ
उस पर
ءَايَٰتُنَا
आयात हमारी
وَلَّىٰ
वो मुँह मोड़ लेता है
مُسْتَكْبِرًا
तकब्बुर करते हुए
كَأَن
गोया कि
لَّمْ
नहीं
يَسْمَعْهَا
उसने सुना उन्हें
كَأَنَّ
गोया कि
فِىٓ
उसके दोनों कानों में
أُذُنَيْهِ
उसके दोनों कानों में
وَقْرًاۖ
कोई बोझ है
فَبَشِّرْهُ
तो ख़ुशख़बरी दे दीजिए उसे
بِعَذَابٍ
अज़ाब
أَلِيمٍ
दर्दनाक की

Waitha tutla 'alayhi ayatuna walla mustakbiran kaan lam yasma'ha kaanna fee othunayhi waqran fabashshirhu bi'athabin aleemin

जब उसे हमारी आयतें सुनाई जाती हैं तो वह स्वयं को बड़ा समझता हुआ पीठ फेरकर चल देता है, मानो उसने उन्हें सुना ही नहीं, मानो उसके काम बहरे है। अच्छा तो उसे एक दुखद यातना की शुभ सूचना दे दो

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّ
बेशक
ٱلَّذِينَ
वो जो
ءَامَنُوا۟
ईमान लाए
وَعَمِلُوا۟
और उन्होंने अमल किए
ٱلصَّٰلِحَٰتِ
नेक
لَهُمْ
उनके लिए
جَنَّٰتُ
बाग़ात हैं
ٱلنَّعِيمِ
नेअमतों वाले

Inna allatheena amanoo wa'amiloo alssalihati lahum jannatu alnna'eemi

अलबत्ता जो लोग ईमान लाए और उन्होंने अच्छे कर्म किए उनके लिए नेमत भरी जन्नतें हैं,

Tafseer (तफ़सीर )
خَٰلِدِينَ
हमेशा रहने वाले हैं
فِيهَاۖ
उनमें
وَعْدَ
वादा है
ٱللَّهِ
अल्लाह का
حَقًّاۚ
सच्चा
وَهُوَ
और वो
ٱلْعَزِيزُ
बहुत ज़बरदस्त है
ٱلْحَكِيمُ
ख़ूब हिकमत वाला है

Khalideena feeha wa'da Allahi haqqan wahuwa al'azeezu alhakeemu

जिनमें वे सदैव रहेंगे। यह अल्लाह का सच्चा वादा है और वह अत्यन्त प्रभुत्वशाली, तत्वदर्शी है

Tafseer (तफ़सीर )
خَلَقَ
उसने पैदा किया
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों को
بِغَيْرِ
बग़ैर
عَمَدٍ
सुतूनों के
تَرَوْنَهَاۖ
तुम देखते हो उन्हें
وَأَلْقَىٰ
और उसने डाल दिए
فِى
ज़मीन में
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में
رَوَٰسِىَ
पहाड़
أَن
कि
تَمِيدَ
ना वो ढुलक जाए
بِكُمْ
तुम्हें लेकर
وَبَثَّ
और उसने फैला दिए
فِيهَا
उसमें
مِن
हर क़िस्म के
كُلِّ
हर क़िस्म के
دَآبَّةٍۚ
जानदार
وَأَنزَلْنَا
और उतारा हमने
مِنَ
आसमान से
ٱلسَّمَآءِ
आसमान से
مَآءً
पानी
فَأَنۢبَتْنَا
फिर उगाए हमने
فِيهَا
उसमें
مِن
हर क़िस्म के
كُلِّ
हर क़िस्म के
زَوْجٍ
जोड़े
كَرِيمٍ
उमदा

Khalaqa alssamawati bighayri 'amadin tarawnaha waalqa fee alardi rawasiya an tameeda bikum wabaththa feeha min kulli dabbatin waanzalna mina alssamai maan faanbatna feeha min kulli zawjin kareemin

उसने आकाशों को पैदा किया, (जो थमें हुए हैं) बिना ऐसे स्तम्भों के जो तुम्हें दिखाई दें। और उसने धरती में पहाड़ डाल दिए कि ऐसा न हो कि तुम्हें लेकर डाँवाडोल हो जाए और उसने उसमें हर प्रकार के जानवर फैला दिए। और हमने ही आकाश से पानी उतारा, फिर उसमें हर प्रकार की उत्तम चीज़े उगाई

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
लुकमान
القرآن الكريم:لقمان
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Luqman
सूरा:31
कुल आयत:34
कुल शब्द:548
कुल वर्ण:2110
रुकु:3
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:57
से शुरू आयत:3469