Skip to main content

अस-सफ्फात आयत ३ | As-Saaffat 37:3

And those who recite
فَٱلتَّٰلِيَٰتِ
फिर तिलावत करने वालों की
(the) Message
ذِكْرًا
ज़िक्र (क़ुरान) की

Faalttaliyati thikran

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

फिर यह ज़िक्र करनेवाले

English Sahih:

And those who recite the message,

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

फिर कुरान पढ़ने वालों की क़सम है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

फिर स्मरण करके पढ़ने वालों[1] की!