Skip to main content

अज़-ज़ारियात आयत १ | Adh-Dhariyat 51:1

By those scattering
وَٱلذَّٰرِيَٰتِ
क़सम है उन हवाओं की जो बिखेरने वाली हैं
dispersing
ذَرْوًا
उड़ा कर

Waalththariyati tharwan

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

गवाह है (हवाएँ) जो गर्द-ग़ुबार उड़ाती फिरती है;

English Sahih:

By the [winds] scattering [dust], dispersing [it]

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

उन (हवाओं की क़सम) जो (बादलों को) उड़ा कर तितर बितर कर देती हैं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

शपथ है (बादलों को) बिखेरने वालियों की!