Skip to main content
bismillah
وَٱلذَّٰرِيَٰتِ
क़सम है उन हवाओं की जो बिखेरने वाली हैं
ذَرْوًا
उड़ा कर

Waalththariyati tharwan

गवाह है (हवाएँ) जो गर्द-ग़ुबार उड़ाती फिरती है;

Tafseer (तफ़सीर )
فَٱلْحَٰمِلَٰتِ
फिर उठाने वालियां हैं
وِقْرًا
बोझ को

Faalhamilati wiqran

फिर बोझ उठाती है;

Tafseer (तफ़सीर )
فَٱلْجَٰرِيَٰتِ
फिर चलने वालियां हैं
يُسْرًا
आसानी से

Faaljariyati yusran

फिर नरमी से चलती है;

Tafseer (तफ़सीर )
فَٱلْمُقَسِّمَٰتِ
फिर तक़्सीम करने वालियां हैं
أَمْرًا
काम को

Faalmuqassimati amran

फिर मामले को अलग-अलग करती है;

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّمَا
बेशक जो
تُوعَدُونَ
तुम वादा किए जाते हो
لَصَادِقٌ
अलबत्ता सच्चा है

Innama too'adoona lasadiqun

निश्चय ही तुमसे जिस चीज़ का वादा किया जाता है, वह सत्य है;

Tafseer (तफ़सीर )
وَإِنَّ
और बेशक
ٱلدِّينَ
बदले(का दिन)
لَوَٰقِعٌ
अलबत्ता वाक़ेअ होने वाला है

Wainna alddeena lawaqi'un

और (कर्मों का) बदला अवश्य सामने आकर रहेगा

Tafseer (तफ़सीर )
وَٱلسَّمَآءِ
क़सम है आसमान की
ذَاتِ
रास्तों वाले
ٱلْحُبُكِ
रास्तों वाले

Waalssamai thati alhubuki

गवाह है धारियोंवाला आकाश।

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّكُمْ
बेशक तुम
لَفِى
अलबत्ता एक बात में हो
قَوْلٍ
अलबत्ता एक बात में हो
مُّخْتَلِفٍ
मुख़्तलिफ़

Innakum lafee qawlin mukhtalifin

निश्चय ही तुम उस बात में पड़े हुए हो जिनमें कथन भिन्न-भिन्न है

Tafseer (तफ़सीर )
يُؤْفَكُ
फेरा जाता है
عَنْهُ
उससे
مَنْ
जो
أُفِكَ
फेरा गया

Yufaku 'anhu man ofika

इसमें कोई सरफिरा ही विमुख होता है

Tafseer (तफ़सीर )
قُتِلَ
मारे गए
ٱلْخَرَّٰصُونَ
अंदाज़े लगाने वाले

Qutila alkharrasoona

मारे जाएँ अटकल दौड़ानेवाले;

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अज़-ज़ारियात
القرآن الكريم:الذاريات
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Az-Zariyat
सूरा:51
कुल आयत:60
कुल शब्द:360
कुल वर्ण:1239
रुकु:3
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:67
से शुरू आयत:4675