Skip to main content

अल-अनाम आयत ११२ | Al-Anam 6:112

And thus
وَكَذَٰلِكَ
और इसी तरह
We made
جَعَلْنَا
बनाए हमने
for every
لِكُلِّ
हर नबी के लिए
Prophet
نَبِىٍّ
हर नबी के लिए
an enemy
عَدُوًّا
दुश्मन
devils
شَيَٰطِينَ
शयातीन
(from) the mankind
ٱلْإِنسِ
इन्सानों
and the jinn
وَٱلْجِنِّ
और जिन्नों (में से)
inspiring
يُوحِى
डालता है
some of them
بَعْضُهُمْ
बाज़ उनका
to
إِلَىٰ
तरफ़ बाज़ के
others
بَعْضٍ
तरफ़ बाज़ के
(with) decorative
زُخْرُفَ
मुलम्मा की हुई
[the] speech
ٱلْقَوْلِ
बात
(in) deception
غُرُورًاۚ
धोखा देने के लिए
But if
وَلَوْ
और अगर
(had) willed
شَآءَ
चाहता
your Lord
رَبُّكَ
रब आपका
not
مَا
ना
they (would) have done it
فَعَلُوهُۖ
वो करते उसे
so leave them
فَذَرْهُمْ
पस छोड़ दीजिए उन्हें
and what
وَمَا
और जो
they invent
يَفْتَرُونَ
वो झूठ गढ़ते हैं

Wakathalika ja'alna likulli nabiyyin 'aduwwan shayateena alinsi waaljinni yoohee ba'duhum ila ba'din zukhrufa alqawli ghurooran walaw shaa rabbuka ma fa'aloohu fatharhum wama yaftaroona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और इसी प्रकार हमने मनुष्यों और जिन्नों में से शैतानों को प्रत्येक नबी का शत्रु बनाया, जो चिकनी-चुपड़ी बात एक-दूसरे के मन में डालकर धोखा देते थे - यदि तुम्हारा रब चाहता तो वे ऐसा न कर सकते। अब छोड़ो उन्हें और उनके मिथ्यारोपण को। -

English Sahih:

And thus We have made for every prophet an enemy – devils from mankind and jinn, inspiring to one another decorative speech in delusion. But if your Lord had willed, they would not have done it, so leave them and that which they invent.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

कि और (ऐ रसूल जिस तरह ये कुफ्फ़ार तुम्हारे दुश्मन हैं) उसी तरह (गोया हमने ख़ुद आज़माइश के लिए शरीर आदमियों और जिनों को हर नबी का दुश्मन बनाया वह लोग एक दूसरे को फरेब देने की ग़रज़ से चिकनी चुपड़ी बातों की सरग़ोशी करते हैं और अगर तुम्हारा परवरदिगार चाहता तो ये लोग) ऐसी हरकत करने न पाते

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और (हे नबी!) इसी प्रकार, हमने मनुष्यों तथा जिन्नों में से प्रत्येक नबी का शत्रु बना दिया, जो धोखा देने के लिए एक-दूसरे को शोभनीय बात सुझाते रहते हैं और यदि आपका पालनहार चाहता, तो ऐसा नहीं करते। तो आप उन्हें छोड़ दें और उनकी घड़ी हई बातों को।