Skip to main content

अत-तग़ाबुन आयत ७ | At-Taghabun 64:7

Claim
زَعَمَ
दावा किया
those who
ٱلَّذِينَ
उन लोगों ने जिन्होंने
disbelieve
كَفَرُوٓا۟
कुफ़्र किया
that
أَن
कि
never
لَّن
हरगिज़ नहीं
will they be raised
يُبْعَثُوا۟ۚ
वो उठाए जाऐंगे
Say
قُلْ
कह दीजिए
"Yes
بَلَىٰ
क्यों नहीं
by my Lord
وَرَبِّى
क़सम है मेरे रब की
surely you will be raised;
لَتُبْعَثُنَّ
अलबत्ता तुम ज़रूर उठाए जाओगे
then
ثُمَّ
फिर
surely you will be informed
لَتُنَبَّؤُنَّ
अलबत्ता तुम ज़रूर ख़बर दिए जाओगे
of what
بِمَا
उसकी जो
you did
عَمِلْتُمْۚ
अमल किए तुमने
And that
وَذَٰلِكَ
और ये
for
عَلَى
अल्लाह पर
Allah
ٱللَّهِ
अल्लाह पर
(is) easy"
يَسِيرٌ
बहुत आसान है

Za'ama allatheena kafaroo an lan yub'athoo qul bala warabbee latub'athunna thumma latunabbaonna bima 'amiltum wathalika 'ala Allahi yaseerun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

जिन लोगों ने इनकार किया उन्होंने दावा किया वे मरने के पश्चात कदापि न उठाए जाएँगे। कह दो, 'क्यों नहीं, मेरे रब की क़सम! तुम अवश्य उठाए जाओगे, फिर जो कुछ तुमने किया है उससे तुम्हें अवगत करा दिया जाएगा। और अल्लाह के लिए यह अत्यन्त सरल है।'

English Sahih:

Those who disbelieve have claimed that they will never be resurrected. Say, "Yes, by my Lord, you will surely be resurrected; then you will surely be informed of what you did. And that, for Allah, is easy."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

काफ़िरों का ख्याल ये है कि ये लोग दोबारा न उठाए जाएँगे (ऐ रसूल) तुम कह दो वहाँ अपने परवरदिगार की क़सम तुम ज़रूर उठाए जाओगे फिर जो जो काम तुम करते रहे वह तुम्हें बता देगा और ये तो ख़ुदा पर आसान है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

समझ रखा है काफ़िरों ने कि वे कदापि फिर जीवित नहीं किये जायेंगे। आप कह दें कि क्यों नहीं? मेरे पालनहार की शपथ! तुम अवश्य जीवित किये जाओगे। फिर तुम्हें बताया जायेगा कि तुमने (संसार में) क्या किया है तथा ये अल्लाह पर अति सरल है।