Skip to main content
bismillah
يُسَبِّحُ
तस्बीह करती है
لِلَّهِ
अल्लाह के लिए
مَا
हर वो चीज़ जो
فِى
आसमानों में है
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों में है
وَمَا
और जो
فِى
ज़मीन में है
ٱلْأَرْضِۖ
ज़मीन में है
لَهُ
उसी के लिए है
ٱلْمُلْكُ
बादशाहत
وَلَهُ
और उसी के लिए है
ٱلْحَمْدُۖ
सब तारीफ़
وَهُوَ
और वो
عَلَىٰ
ऊपर
كُلِّ
हर
شَىْءٍ
चीज़ के
قَدِيرٌ
ख़ूब क़ुदरत रखन वाला है

Yusabbihu lillahi ma fee alssamawati wama fee alardi lahu almulku walahu alhamdu wahuwa 'ala kulli shayin qadeerun

अल्लाह की तसबीह कर रही है हर वह चीज़ जो आकाशों में है और जो धरती में है। उसी की बादशाही है और उसी के लिए प्रशंसा है और उसे हर चीज़ की सामर्थ्य प्राप्त है

Tafseer (तफ़सीर )
هُوَ
वो ही है
ٱلَّذِى
जिसने
خَلَقَكُمْ
पैदा किया तुम्हें
فَمِنكُمْ
तो तुम में से
كَافِرٌ
कोई काफ़िर है
وَمِنكُم
और तुम में से
مُّؤْمِنٌۚ
कोई मोमिन है
وَٱللَّهُ
और अल्लाह
بِمَا
उसे जो
تَعْمَلُونَ
तुम अमल करते हो
بَصِيرٌ
ख़ूब देखने वाला है

Huwa allathee khalaqakum faminkum kafirun waminkum muminun waAllahu bima ta'maloona baseerun

वही है जिसने तुम्हें पैदा किया, फिर तुममें से कोई तो इनकार करनेवाला है और तुममें से कोई ईमानवाला है, और तुम जो कुछ भी करते हो अल्लाह उसे देख रहा होता है

Tafseer (तफ़सीर )
خَلَقَ
उसने पैदा किया
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों
وَٱلْأَرْضَ
और ज़मीन को
بِٱلْحَقِّ
साथ हक़ के
وَصَوَّرَكُمْ
और उसने सूरत बनाई तुम्हारी
فَأَحْسَنَ
तो उसने अच्छी बनाईं
صُوَرَكُمْۖ
सूरतें तुम्हारी
وَإِلَيْهِ
और तरफ़ उसी के
ٱلْمَصِيرُ
लौटना है

Khalaqa alssamawati waalarda bialhaqqi wasawwarakum faahsana suwarakum wailayhi almaseeru

उसने आकाशों और धरती को हक़ के साथ पैदा किया और तुम्हारा रूप बनाया, तो बहुत ही अच्छे बनाए तुम्हारे रूप और उसी की ओर अन्ततः जाना है

Tafseer (तफ़सीर )
يَعْلَمُ
वो जानता है
مَا
जो कुछ
فِى
आसमानों में है
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों में है
وَٱلْأَرْضِ
और ज़मीन में
وَيَعْلَمُ
और वो जानता है
مَا
जो कुछ
تُسِرُّونَ
तुम छुपाते हो
وَمَا
और जो कुछ
تُعْلِنُونَۚ
तुम ज़ाहिर करते हो
وَٱللَّهُ
और अल्लाह
عَلِيمٌۢ
ख़ूब जानने वाला है
بِذَاتِ
सीनों वाले (भेद)
ٱلصُّدُورِ
सीनों वाले (भेद)

Ya'lamu ma fee alssamawati waalardi waya'lamu ma tusirroona wama tu'linoona waAllahu 'aleemun bithati alssudoori

वह जानता है जो कुछ आकाशों और धरती में है और उसे भी जानता है जो कुछ तुम छिपाते हो और जो कुछ तुम प्रकट करते हो। अल्लाह तो सीनों में छिपी बात तक को जानता है

Tafseer (तफ़सीर )
أَلَمْ
क्या नहीं
يَأْتِكُمْ
आई तुम्हारे पास
نَبَؤُا۟
ख़बर
ٱلَّذِينَ
उनकी जिन्होंने
كَفَرُوا۟
कुफ़्र किया
مِن
इससे पहले
قَبْلُ
इससे पहले
فَذَاقُوا۟
फिर उन्होंने चखा
وَبَالَ
वबाल
أَمْرِهِمْ
अपने काम का
وَلَهُمْ
और उनके लिए है
عَذَابٌ
अज़ाब
أَلِيمٌ
दर्दनाक

Alam yatikum nabao allatheena kafaroo min qablu fathaqoo wabala amrihim walahum 'athabun aleemun

क्या तुम्हें उन लोगों की ख़बर नहीं पहुँची जिन्होंने इससे पहले इनकार किया था, फिर उन्होंने अपने कर्म के वबाल का मज़ा चखा और उनके लिए एक दुखद यातना भी है

Tafseer (तफ़सीर )
ذَٰلِكَ
ये
بِأَنَّهُۥ
बवजह उसके कि वो
كَانَت
थे
تَّأْتِيهِمْ
आते उनके पास
رُسُلُهُم
रसूल उनके
بِٱلْبَيِّنَٰتِ
साथ वाज़ेह आयात के
فَقَالُوٓا۟
तो वो कहते
أَبَشَرٌ
क्या इन्सान
يَهْدُونَنَا
रहनुमाई करेंगे हमारी
فَكَفَرُوا۟
तो उन्होंने कुफ़्र किया
وَتَوَلَّوا۟ۚ
और वो मुँह मोड़ गए
وَّٱسْتَغْنَى
और परवाह ना की
ٱللَّهُۚ
अल्लाह ने
وَٱللَّهُ
और अल्लाह
غَنِىٌّ
बहुत बेनियाज़ है
حَمِيدٌ
ख़ूब तारीफ़ वाला है

Thalika biannahu kanat tateehim rusuluhum bialbayyinati faqaloo abasharun yahdoonana fakafaroo watawallaw waistaghna Allahu waAllahu ghaniyyun hameedun

यह इस कारण कि उनके पास उनके रसूल स्पष्ट प्रमाण लेकर आते रहे, किन्तु उन्होंने कहा, 'क्या मनुष्य हमें मार्ग दिखाएँगे?' इस प्रकार उन्होंने इनकार किया और मुँह फेर लिया, तब अल्लाह भी उनसे बेपरवाह हो गया। अल्लाह तो है ही निस्पृह, अपने आप में स्वयं प्रशंसित

Tafseer (तफ़सीर )
زَعَمَ
दावा किया
ٱلَّذِينَ
उन लोगों ने जिन्होंने
كَفَرُوٓا۟
कुफ़्र किया
أَن
कि
لَّن
हरगिज़ नहीं
يُبْعَثُوا۟ۚ
वो उठाए जाऐंगे
قُلْ
कह दीजिए
بَلَىٰ
क्यों नहीं
وَرَبِّى
क़सम है मेरे रब की
لَتُبْعَثُنَّ
अलबत्ता तुम ज़रूर उठाए जाओगे
ثُمَّ
फिर
لَتُنَبَّؤُنَّ
अलबत्ता तुम ज़रूर ख़बर दिए जाओगे
بِمَا
उसकी जो
عَمِلْتُمْۚ
अमल किए तुमने
وَذَٰلِكَ
और ये
عَلَى
अल्लाह पर
ٱللَّهِ
अल्लाह पर
يَسِيرٌ
बहुत आसान है

Za'ama allatheena kafaroo an lan yub'athoo qul bala warabbee latub'athunna thumma latunabbaonna bima 'amiltum wathalika 'ala Allahi yaseerun

जिन लोगों ने इनकार किया उन्होंने दावा किया वे मरने के पश्चात कदापि न उठाए जाएँगे। कह दो, 'क्यों नहीं, मेरे रब की क़सम! तुम अवश्य उठाए जाओगे, फिर जो कुछ तुमने किया है उससे तुम्हें अवगत करा दिया जाएगा। और अल्लाह के लिए यह अत्यन्त सरल है।'

Tafseer (तफ़सीर )
فَـَٔامِنُوا۟
पस ईमान लाओ
بِٱللَّهِ
अल्लाह पर
وَرَسُولِهِۦ
और उसके रसूल पर
وَٱلنُّورِ
और उस नूर पर
ٱلَّذِىٓ
वो जो
أَنزَلْنَاۚ
नाज़िल किया हमने
وَٱللَّهُ
और अल्लाह
بِمَا
उसकी जो
تَعْمَلُونَ
तुम अमल करते हो
خَبِيرٌ
ख़ूब ख़बर रखने वाला है

Faaminoo biAllahi warasoolihi waalnnoori allathee anzalna waAllahu bima ta'maloona khabeerun

अतः ईमान लाओ, अल्लाह पर और उसके रसूल पर और उस प्रकाश पर जिसे हमने अवतरित किया है। तुम जो कुछ भी करते हो अल्लाह उसकी पूरी ख़बर रखता है

Tafseer (तफ़सीर )
يَوْمَ
जिस दिन
يَجْمَعُكُمْ
वो जमा करेगा तुम्हें
لِيَوْمِ
जमा होने के दिन के लिए
ٱلْجَمْعِۖ
जमा होने के दिन के लिए
ذَٰلِكَ
ये
يَوْمُ
दिन होगा
ٱلتَّغَابُنِۗ
हार जीत का
وَمَن
और जो कोई
يُؤْمِنۢ
ईमान लाएगा
بِٱللَّهِ
अल्लाह पर
وَيَعْمَلْ
और वो अमल करेगा
صَٰلِحًا
नेक
يُكَفِّرْ
वो दूर कर देगा
عَنْهُ
उससे
سَيِّـَٔاتِهِۦ
बुराइयाँ उसकी
وَيُدْخِلْهُ
और वो दाख़िल करेगा उसे
جَنَّٰتٍ
बाग़ात में
تَجْرِى
बहती हैं
مِن
उनके नीचे से
تَحْتِهَا
उनके नीचे से
ٱلْأَنْهَٰرُ
नहरें
خَٰلِدِينَ
हमेशा रहने वाले हैं
فِيهَآ
उनमें
أَبَدًاۚ
हमेशा-हमेशा
ذَٰلِكَ
यही
ٱلْفَوْزُ
कामयाबी है
ٱلْعَظِيمُ
बहुत बड़ी

Yawma yajma'ukum liyawmi aljam'i thalika yawmu alttaghabuni waman yumin biAllahi waya'mal salihan yukaffir 'anhu sayyiatihi wayudkhilhu jannatin tajree min tahtiha alanharu khalideena feeha abadan thalika alfawzu al'atheemu

इकट्ठा होने के दिन वह तुम्हें इकट्ठा करेगा, वह परस्पर लाभ-हानि का दिन होगा। जो भी अल्लाह पर ईमान लाए और अच्छा कर्म करे उसकी बुराईयाँ अल्लाह उससे दूर कर देगा और उसे ऐसे बाग़ों में दाख़िल करेगा जिनके नीचे नहरें बह रही होंगी, उनमें वे सदैव रहेंगे। यही बड़ी सफलता है

Tafseer (तफ़सीर )
وَٱلَّذِينَ
और वो जिन्होंने
كَفَرُوا۟
कुफ़्र किया
وَكَذَّبُوا۟
और झुठलाया
بِـَٔايَٰتِنَآ
हमारी आयात को
أُو۟لَٰٓئِكَ
यही लोग हैं
أَصْحَٰبُ
साथी
ٱلنَّارِ
आग के
خَٰلِدِينَ
हमेशा रहने वाले हैं
فِيهَاۖ
उसमें
وَبِئْسَ
और कितनी बुरी है
ٱلْمَصِيرُ
लौटने की जगह

Waallatheena kafaroo wakaththaboo biayatina olaika ashabu alnnari khalideena feeha wabisa almaseeru

रहे वे लोग जिन्होंने इनकार किया और हमारी आयतों को झुठलाया, वही आगवाले है जिसमें वे सदैव रहेंगे। अन्ततः लौटकर पहुँचने की वह बहुत ही बुरी जगह है

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अत-तग़ाबुन
القرآن الكريم:التغابن
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):At-Tagabun
सूरा:64
कुल आयत:18
कुल शब्द:241
कुल वर्ण:1070
रुकु:2
वर्गीकरण:मदीनन सूरा
Revelation Order:108
से शुरू आयत:5199