Skip to main content

अल-कियामा आयत ११ | Al-Qiyamah 75:11

By no means!
كَلَّا
हरगिज़ नहीं
(There is) no
لَا
नहीं कोई जाएपनाह
refuge
وَزَرَ
नहीं कोई जाएपनाह

Kalla la wazara

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

कुछ नहीं, कोई शरण-स्थल नहीं!

English Sahih:

No! There is no refuge.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

यक़ीन जानों कहीं पनाह नहीं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

कदापि नहीं, कोई शरणागार नहीं।