Skip to main content

अल-नबा आयत ३२ | An-Naba 78:32

Gardens
حَدَآئِقَ
बाग़ात
and grapevines
وَأَعْنَٰبًا
और अंगूर हैं

Hadaiqa waa'naban

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

बाग़ है और अंगूर,

English Sahih:

Gardens and grapevines.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(यानि बेहश्त के) बाग़ और अंगूर

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

बाग़ तथा अँगूर हैं।