Skip to main content

अल-फलक़ आयत १ | Al-Falaq 113:1

Say
قُلْ
कह दीजिए
"I seek refuge
أَعُوذُ
मैं पनाह लेता हूँ
in (the) Lord
بِرَبِّ
रब की
(of) the dawn
ٱلْفَلَقِ
सुबह के

Qul a'oothu birabbi alfalaqi

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

कहो, 'मैं शरण लेता हूँ, प्रकट करनेवाले रब की,

English Sahih:

Say, "I seek refuge in the Lord of daybreak

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(ऐ रसूल) तुम कह दो कि मैं सुबह के मालिक की

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

(हे नबी!) कहो कि मैं भोर के पालनहार की शरण लेता हूँ।