Skip to main content

युसूफ आयत १०९ | Yusuf 12:109

And not
وَمَآ
और नहीं
We sent
أَرْسَلْنَا
भेजा हमने
before you
مِن
आपसे पहले
before you
قَبْلِكَ
आपसे पहले
but
إِلَّا
मगर
men
رِجَالًا
मर्दों को
We revealed
نُّوحِىٓ
हम वही करते थे
to them
إِلَيْهِم
तरफ़ उनके
from (among)
مِّنْ
बस्ती वालों में से
(the) people
أَهْلِ
बस्ती वालों में से
(of) the townships
ٱلْقُرَىٰٓۗ
बस्ती वालों में से
So have not
أَفَلَمْ
क्या फिर नहीं
they traveled
يَسِيرُوا۟
वो चले-फिरे
in
فِى
ज़मीन में
the earth
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में
and seen
فَيَنظُرُوا۟
तो वो देखते
how
كَيْفَ
किस तरह
was
كَانَ
हुआ
(the) end
عَٰقِبَةُ
अंजाम
(of) those who
ٱلَّذِينَ
उनका जो
(were) before them?
مِن
उनसे पहले थे
(were) before them?
قَبْلِهِمْۗ
उनसे पहले थे
And surely the home
وَلَدَارُ
और अलबत्ता घर
(of) the Hereafter
ٱلْءَاخِرَةِ
आख़िरत का
(is) best
خَيْرٌ
बेहतर है
for those who
لِّلَّذِينَ
उनके लिए जो
fear Allah
ٱتَّقَوْا۟ۗ
तक़वा करें
Then will not
أَفَلَا
क्या फिर नहीं
you use reason?
تَعْقِلُونَ
तुम अक़्ल से काम लेते

Wama arsalna min qablika illa rijalan noohee ilayhim min ahli alqura afalam yaseeroo fee alardi fayanthuroo kayfa kana 'aqibatu allatheena min qablihim waladaru alakhirati khayrun lillatheena ittaqaw afala ta'qiloona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

तुमसे पहले भी हमने जिनको रसूल बनाकर भेजा, वे सब बस्तियों के रहनेवाले पुरुष ही थे। हम उनकी ओर प्रकाशना करते रहे - फिर क्या वे धरती में चले-फिरे नहीं कि देखते कि उनका कैसा परिणाम हुआ, जो उनसे पहले गुज़रे है? निश्चय ही आख़िरत का घर ही डर रखनेवालों के लिए सर्वोत्तम है। तो क्या तुम समझते नहीं? -

English Sahih:

And We sent not before you [as messengers] except men to whom We revealed from among the people of cities. So have they not traveled through the earth and observed how was the end of those before them? And the home of the Hereafter is best for those who fear Allah; then will you not reason?

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और (ऐ रसूल) तुमसे पहले भी हम गाँव ही के रहने वाले कुछ मर्दों को (पैग़म्बर बनाकर) भेजा किए है कि हम उन पर वही नाज़िल करते थे तो क्या ये लोग रुए ज़मीन पर चले फिरे नहीं कि ग़ौर करते कि जो लोग उनसे पहले हो गुज़रे हैं उनका अन्जाम क्या हुआ और जिन लोगों ने परहेज़गारी एख्तेयार की उनके लिए आख़िरत का घर (दुनिया से) यक़ीनन कहीं ज्यादा बेहतर है क्या ये लोग नहीं समझते

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और हमने आपसे पहले मानव[1] पुरुषों ही को नबी बनाकर भेजा, जिनकी ओर प्रकाशना भेजते रहे, नगर वासियों में से, क्या वे धरती में चले फिरे नहीं, ताकि देखते कि उनका परिणाम क्या हुआ, जो इनसे पहले थे? और निश्चय आख़िरत (परलोक) का घर (स्वर्ग) उनके लिए उत्तम है, जो अल्लाह से डरे, तो क्या तुम समझते नहीं हो?