Skip to main content

युसूफ आयत १५ | Yusuf 12:15

So when
فَلَمَّا
तो जब
they took him
ذَهَبُوا۟
वो ले गए
they took him
بِهِۦ
उसे
and agreed
وَأَجْمَعُوٓا۟
और उन्होंने तय कर लिया
that
أَن
कि
they put him
يَجْعَلُوهُ
वो डालेंगे उसे
in
فِى
गहराई में
(the) bottom
غَيَٰبَتِ
गहराई में
(of) the well
ٱلْجُبِّۚ
कुएँ की
But We inspired
وَأَوْحَيْنَآ
और वही की हमने
to him
إِلَيْهِ
तरफ़ उसके
"Surely, you will inform them
لَتُنَبِّئَنَّهُم
अलबत्ता तू ज़रूर आगाह करेगा उन्हें
about this affair
بِأَمْرِهِمْ
उनके काम के बारे में
about this affair
هَٰذَا
इस
while they
وَهُمْ
जब कि वो
(do) not
لَا
वो शऊर ना रखते होंगे
perceive"
يَشْعُرُونَ
वो शऊर ना रखते होंगे

Falamma thahaboo bihi waajma'oo an yaj'aloohu fee ghayabati aljubbi waawhayna ilayhi latunabiannahum biamrihim hatha wahum la yash'uroona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

फिर जब वे उसे ले गए और सभी इस बात पर सहमत हो गए कि उसे एक कुएँ की गहराई में डाल दें (तो उन्होंने वह किया जो करना चाहते थे), और हमने उसकी ओर प्रकाशना का, 'तू उन्हें उनके इस कर्म से अवगत कराएगा और वे जानते न होंगे।'

English Sahih:

So when they took him [out] and agreed to put him into the bottom of the well... But We inspired to him, "You will surely inform them [someday] about this affair of theirs while they do not perceive [your identity]."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

ग़रज़ यूसुफ को जब ये लोग ले गए और इस पर इत्तेफ़ाक़ कर लिया कि उसको अन्धे कुएँ में डाल दें और (आख़िर ये लोग गुज़रे तो) हमने युसुफ़ के पास 'वही' भेजी कि तुम घबराओ नहीं हम अनक़रीब तुम्हें मरतबे (उँचे मकाम) पर पहुँचाएगे (तब तुम) उनके उस फेल (बद) से तम्बीह (आग़ाह) करोगे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

फिर जब वे उसे ले गये और निश्चय किया कि उसे अंधे कुएं में डाल दें और हमने उस (यूसुफ़) की ओर वह़्यी की कि तुम अवश्य इन्हें इनका कर्म बताओगे और वे कुछ जानते न होंगे।