Skip to main content

इब्राहीम आयत १२ | Ibrahim 14:12

And what
وَمَا
और क्या है
(is) for us
لَنَآ
हमें
that not
أَلَّا
कि ना
we put our trust
نَتَوَكَّلَ
हम तवक्कल करें
upon
عَلَى
अल्लाह पर
Allah
ٱللَّهِ
अल्लाह पर
while certainly
وَقَدْ
हालाँकि तहक़ीक़
He has guided us
هَدَىٰنَا
हिदायत दी उसने हमें
to our ways?
سُبُلَنَاۚ
हमारे रास्तों की
And surely we will bear with patience
وَلَنَصْبِرَنَّ
और अलबत्ता हम ज़रूर सब्र करेंगे
on
عَلَىٰ
उस पर जो
what
مَآ
उस पर जो
harm you may cause us
ءَاذَيْتُمُونَاۚ
अज़ियत दे रहे हो तुम हमें
And upon
وَعَلَى
और अल्लाह ही पर
Allah
ٱللَّهِ
और अल्लाह ही पर
so let put (their) trust
فَلْيَتَوَكَّلِ
पस चाहिए कि तवक्कल करें
the ones who put (their) trust"
ٱلْمُتَوَكِّلُونَ
तवक्कल करने वाले

Wama lana alla natawakkala 'ala Allahi waqad hadana subulana walanasbiranna 'ala ma athaytumoona wa'ala Allahi falyatawakkali almutawakkiloona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

आख़िर हमें क्या हुआ है कि हम अल्लाह पर भरोसा न करें, जबकि उसने हमें हमारे मार्ग दिखाए है? तुम हमें जो तकलीफ़ पहुँचा रहे हो उसके मुक़ाबले में हम धैर्य से काम लेंगे। भरोसा करनेवालों को तो अल्लाह ही पर भरोसा करना चाहिए।'

English Sahih:

And why should we not rely upon Allah while He has guided us to our [good] ways. And we will surely be patient against whatever harm you should cause us. And upon Allah let those who would rely [indeed] rely."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और हमें (आख़िर) क्या है कि हम उस पर भरोसा न करें हालॉकि हमे (निजात की) आसान राहें दिखाई और जो तूने अज़ियतें हमें पहुँचाइ (उन पर हमने सब्र किया और आइन्दा भी सब्र करेगें और तवक्कल भरोसा करने वालो को ख़ुदा ही पर तवक्कल करना चाहिए

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और क्या कारण है कि हम अल्लाह पर भरोसा न करें, जबकि उसने हमें हमारी राहें दर्शा दी हैं? और हम अवश्य उस दुःख को सहन करेंगे, जो तुम हमें दोगे और अल्लाह हीपर भरोसा करने वालों को निर्भर रहना चाहिए।