Skip to main content

इब्राहीम आयत २४ | Ibrahim 14:24

Do not
أَلَمْ
क्या नहीं
you see
تَرَ
आपने देखा
how
كَيْفَ
किस तरह
Allah sets forth
ضَرَبَ
बयान की
Allah sets forth
ٱللَّهُ
अल्लाह ने
the example
مَثَلًا
मिसाल
a word
كَلِمَةً
कलमा
good
طَيِّبَةً
तय्यबा/पाकीज़ा की
(is) like a tree
كَشَجَرَةٍ
मानिन्द दरख़्त
good
طَيِّبَةٍ
पाकीज़ा के
its root
أَصْلُهَا
जड़ उसकी
(is) firm
ثَابِتٌ
मज़बूत है
and its branches
وَفَرْعُهَا
और शाख़ें उसकी
(are) in
فِى
आसमान में हैं
the sky?
ٱلسَّمَآءِ
आसमान में हैं

Alam tara kayfa daraba Allahu mathalan kalimatan tayyibatan kashajaratin tayyibatin asluha thabitun wafar'uha fee alssamai

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

क्या तुमने देखा नहीं कि अल्लाह ने कैसी मिसाल पेश की? अच्छी उत्तम बात एक अच्छे शुभ वृक्ष के सदृश है, जिसकी जड़ गहरी जमी हुई हो और उसकी शाखाएँ आकाश में पहुँची हुई हों;

English Sahih:

Have you not considered how Allah presents an example, [making] a good word like a good tree, whose root is firmly fixed and its branches [high] in the sky?

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(ऐ रसूल) क्या तुमने नहीं देखा कि ख़ुदा ने अच्छी बात (मसलन कलमा तौहीद की) वैसी अच्छी मिसाल बयान की है कि (अच्छी बात) गोया एक पाकीज़ा दरख्त है कि उसकी जड़ मज़बूत है और उसकी टहनियाँ आसमान में लगी हो

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

(हे नबी!) क्या आप नहीं जानते कि अल्लाह ने कलिमा तय्येबा[1]( पवित्र शब्द) का उदाहरण एक पवित्र वृक्ष से दिया है, जिसकी जड़ (भूमि में) सुदृढ़ स्थित है और उसकी शाखा आकाश में है?