Skip to main content

अल इस्रा आयत ८४ | Al-Isra 17:84

Say
قُلْ
कह दीजिए
"Each
كُلٌّ
हर एक
works
يَعْمَلُ
अमल करता है
on
عَلَىٰ
अपने तरीक़े पर
his manner
شَاكِلَتِهِۦ
अपने तरीक़े पर
but your Lord
فَرَبُّكُمْ
तो रब तुम्हारा
(is) most knowing
أَعْلَمُ
ज़्यादा जानता है
of who
بِمَنْ
उसे जो
[he]
هُوَ
वो
(is) best guided
أَهْدَىٰ
ज़्यादा हिदायत याफ़्ता है
(in) way"
سَبِيلًا
रास्ते (के ऐतबार से)

Qul kullun ya'malu 'ala shakilatihi farabbukum a'lamu biman huwa ahda sabeelan

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

कह दो, 'हर एक अपने ढब पर काम कर रहा है, तो अब तुम्हारा रब ही भली-भाँति जानता है कि कौन अधिक सीधे मार्ग पर है।'

English Sahih:

Say, "Each works according to his manner, but your Lord is most knowing of who is best guided in way."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(ऐ रसूल) तुम कह दो कि हर (एक अपने तरीक़े पर कारगुज़ारी करता है फिर तुम में से जो शख़्श बिल्कुल ठीक सीधी राह पर है तुम्हारा परवरदिगार (उससे) खूब वाक़िफ है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

आप कह दें कि प्रत्येक अपनी आस्था के अनुसार कर्म कर रहा है, तो आपका पालनहार ही भली-भाँति जान रहा है कि कौन अधिक सीधी डगर पर है।