Skip to main content

अल-अम्बिया आयत ७९ | Al-Ambiya 21:79

And We gave understanding of it
فَفَهَّمْنَٰهَا
पस समझा दिया हमने ये(फ़ैसला)
(to) Sulaiman
سُلَيْمَٰنَۚ
सुलैमान को
and (to) each
وَكُلًّا
और हर एक को
We gave
ءَاتَيْنَا
दिया हमने
judgment
حُكْمًا
हुक्म
and knowledge
وَعِلْمًاۚ
और इल्म
And We subjected
وَسَخَّرْنَا
और मुसख़्ख़र किए हमने
with
مَعَ
साथ
Dawud
دَاوُۥدَ
दाऊद के
the mountains
ٱلْجِبَالَ
पहाड़
(to) glorify Our praises
يُسَبِّحْنَ
वो तस्बीह करते थे
and the birds
وَٱلطَّيْرَۚ
और परिन्दे ( भी )
And We were
وَكُنَّا
और थे हम ही
the Doers
فَٰعِلِينَ
करने वाले

Fafahhamnaha sulaymana wakullan atayna hukman wa'ilman wasakhkharna ma'a dawooda aljibala yusabbihna waalttayra wakunna fa'ileena

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

तब हमने उसे सुलैमान को समझा दिया और यूँ तो हरेक को हमने निर्णय-शक्ति और ज्ञान प्रदान किया था। और दाऊद के साथ हमने पहाड़ों को वशीभूत कर दिया था, जो तसबीह करते थे, और पक्षियों को भी। और ऐसा करनेवाले हम भी थे

English Sahih:

And We gave understanding of it [i.e., the case] to Solomon, and to each [of them] We gave judgement and knowledge. And We subjected the mountains to exalt [Us], along with David and [also] the birds. And We were doing [that].

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

तो हमने सुलेमान को (इसका सही फ़ैसला समझा दिया) और (यूँ तो) सबको हम ही ने फहमे सलीम और इल्म अता किया और हम ही ने पहाड़ों को दाऊद का ताबेए बना दिया था कि उनके साथ (खुदा की) तस्बीह किया करते थे और परिन्दों को (भी ताबेए कर दिया था) और हम ही (ये अज़ाब) किया करते थे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तो हमने उसका उचित निर्णय समझा दिया सुलैमान[1] को और प्रत्येक को हमने प्रदान किया था निर्णय शक्ति तथा ज्ञान और हमने अधीन कर दिया था दावूद के साथ पर्वतों को, जो (अल्लाह की पवित्रता का) वर्णन करते थे तथा पक्षियों को और हम ही इसकार्य के करने वाले थे।