Skip to main content

अल-अह्जाब आयत ७ | Al-Ahzab 33:7

And when
وَإِذْ
और जब
We took
أَخَذْنَا
लिया हमने
from
مِنَ
नबियों से
the Prophets
ٱلنَّبِيِّۦنَ
नबियों से
their Covenant
مِيثَٰقَهُمْ
पुख़्ता अहद उनका
and from you
وَمِنكَ
और आपसे
and from
وَمِن
और नूह
Nuh
نُّوحٍ
और नूह
and Ibrahim
وَإِبْرَٰهِيمَ
और इब्राहीम
and Musa
وَمُوسَىٰ
और मूसा
and Isa
وَعِيسَى
और ईसा इब्ने मरयम से
son
ٱبْنِ
और ईसा इब्ने मरयम से
(of) Maryam
مَرْيَمَۖ
और ईसा इब्ने मरयम से
And We took
وَأَخَذْنَا
और लिया हमने
from them
مِنْهُم
उनसे
a covenant
مِّيثَٰقًا
अहद
strong
غَلِيظًا
पुख़्ता /पक्का

Waith akhathna mina alnnabiyyeena meethaqahum waminka wamin noohin waibraheema wamoosa wa'eesa ibni maryama waakhathna minhum meethaqan ghaleethan

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और याद करो जब हमने नबियों से वचन लिया, तुमसे भी और नूह और इबराहीम और मूसा और मरयम के बेटे ईसा से भी। इन सबसे हमने ढृढ़ वचन लिया,

English Sahih:

And [mention, O Muhammad], when We took from the prophets their covenant and from you and from Noah and Abraham and Moses and Jesus, the son of Mary; and We took from them a solemn covenant

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और (ऐ रसूल वह वक्त याद करो) जब हमने और पैग़म्बरों से और ख़ास तुमसे और नूह और इबराहीम और मूसा और मरियम के बेटे ईसा से एहदो पैमाने लिया और उन लोगों से हमने सख्त एहद लिया था

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा (याद करो) जब हमने नबियों से उनका वचन[1] लिया तथा आपसे और नूह़, इब्रीम, मूसा, मर्यम के पुत्र ईसा से और हमने लिया उनसे दृढ़ वचन।