Skip to main content

अल-फतह आयत १६ | Al-Fatah 48:16

Say
قُل
कह दीजिए
to those who remained behind
لِّلْمُخَلَّفِينَ
पीछे रहने वालों से
of
مِنَ
देहाती /बदवियों में से
the Bedouins
ٱلْأَعْرَابِ
देहाती /बदवियों में से
"You will be called
سَتُدْعَوْنَ
अनक़रीब तुम बुलाए जाओगे
to
إِلَىٰ
तरफ़ एक क़ौम के
a people
قَوْمٍ
तरफ़ एक क़ौम के
possessors of military might
أُو۟لِى
सख़्त जंगजू/ लड़ने वाली
possessors of military might
بَأْسٍ
सख़्त जंगजू/ लड़ने वाली
great
شَدِيدٍ
सख़्त जंगजू/ लड़ने वाली
you will fight them
تُقَٰتِلُونَهُمْ
तुम जंग करोगे उनसे
or
أَوْ
या
they will submit
يُسْلِمُونَۖ
वो मुसलमान हो जाऐंगे
Then if
فَإِن
फिर अगर
you obey
تُطِيعُوا۟
तुम इताअत करोगे
Allah will give you
يُؤْتِكُمُ
देगा तुम्हें
Allah will give you
ٱللَّهُ
अल्लाह
a reward
أَجْرًا
अजर
good
حَسَنًاۖ
अच्छा
but if
وَإِن
और अगर
you turn away
تَتَوَلَّوْا۟
तुम मुँह मोड़ गए
as
كَمَا
जैसा कि
you turned away
تَوَلَّيْتُم
तुमने मुँह मोड़ा था
before
مِّن
इससे पहले
before
قَبْلُ
इससे पहले
He will punish you
يُعَذِّبْكُمْ
वो अज़ाब देगा तुम्हें
(with) a punishment
عَذَابًا
अज़ाब
painful"
أَلِيمًا
दर्दनाक

Qul lilmukhallafeena mina ala'rabi satud'awna ila qawmin olee basin shadeedin tuqatiloonahum aw yuslimoona fain tutee'oo yutikumu Allahu ajran hasanan wain tatawallaw kama tawallaytum min qablu yu'aththibkum 'athaban aleeman

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

पीछे रह जानेवाले बद्‌दूओं से कहना, 'शीघ्र ही तुम्हें ऐसे लोगों की ओर बुलाया जाएगा जो बड़े युद्धवीर है कि तुम उनसे लड़ो या वे आज्ञाकारी हो जाएँ। तो यदि तुम आज्ञाकारी हो जाएँ। तो यदि तुम आज्ञापालन करोगे तो अल्लाह तुम्हें अच्छा बदला प्रदान करेगा। किन्तु यदि तुम फिर गए, जैसे पहले फिर गए थे, तो वह तुम्हें दुखद यातना देगा।'

English Sahih:

Say to those who remained behind of the bedouins, "You will be called to [face] a people of great military might; you may fight them, or they will submit. So if you obey, Allah will give you a good reward; but if you turn away as you turned away before, He will punish you with a painful punishment."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

कि जो गवॉर पीछे रह गए थे उनसे कह दो कि अनक़रीब ही तुम सख्त जंगजू क़ौम के (साथ लड़ने के लिए) बुलाए जाओगे कि तुम (या तो) उनसे लड़ते ही रहोगे या मुसलमान ही हो जाएँगे पस अगर तुम (ख़ुदा का) हुक्म मानोगे तो ख़ुदा तुमको अच्छा बदला देगा और अगर तुमने जिस तरह पहली दफा सरताबी की थी अब भी सरताबी करोगे तो वह तुमको दर्दनाक अज़ाब की सज़ा देगा

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

आप कह दें, पीछे छोड़ दिये गये बद्दुओं से कि शीघ्र तुम बुलाये जाओगे, एक अति योध्दा जाति (से युध्द) की ओर।[1] जिनसे तुम युध्द करोगे अथवा वह इस्लाम ले आयें। तो यदि तुम आज्ञा का पालन करोगे, तो प्रदान करेगा अल्लाह तुम्हें उत्तम बदला तथा यदि तुम विमुख हो गये, जैसे इससे पूर्व (मक्का जाने से) विमुख हो गये, तो तुम्हें यातना देगा दुःखदायी यातना।