Skip to main content

अल-अनाम आयत ९० | Al-Anam 6:90

Those
أُو۟لَٰٓئِكَ
यही वो लोग हैं
(are) ones whom
ٱلَّذِينَ
जिन्हें
(have been) guided
هَدَى
हिदायत दी
(by) Allah
ٱللَّهُۖ
अल्लाह ने
so of their guidance
فَبِهُدَىٰهُمُ
पस उनकी हिदायत की
you follow
ٱقْتَدِهْۗ
आप पैरवी कीजिए
Say
قُل
कह दीजिए
"Not
لَّآ
नहीं मैं सवाल करता तुमसे
I ask you
أَسْـَٔلُكُمْ
नहीं मैं सवाल करता तुमसे
for it
عَلَيْهِ
उस पर
any reward
أَجْرًاۖ
किसी अजर का
Not
إِنْ
नहीं
(is) it
هُوَ
वो
but
إِلَّا
मगर
a reminder
ذِكْرَىٰ
एक नसीहत
for the worlds"
لِلْعَٰلَمِينَ
तमाम जहान वालों के लिए

Olaika allatheena hada Allahu fabihudahumu iqtadih qul la asalukum 'alayhi ajran in huwa illa thikra lil'alameena

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

वे (पिछले पैग़म्बर) ऐसे लोग थे, जिन्हें अल्लाह ने मार्ग दिखाया था, तो तुम उन्हीं के मार्ग का अनुसरण करो। कह दो, 'मैं तुमसे उसका कोई प्रतिदान नहीं माँगता। वह तो सम्पूर्ण संसार के लिए बस एक प्रबोध है।'

English Sahih:

Those are the ones whom Allah has guided, so from their guidance take an example. Say, "I ask of you for it [i.e., this message] no payment. It is not but a reminder for the worlds."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(ये अगले पैग़म्बर) वह लोग थे जिनकी ख़ुदा ने हिदायत की पस तुम भी उनकी हिदायत की पैरवी करो (ऐ रसूल उन से) कहो कि मै तुम से इस (रिसालत) की मज़दूरी कुछ नहीं चाहता सारे जहाँन के लिए सिर्फ नसीहत है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

(हे नबी!) ये वे लोग हैं, जिन्हें अल्लाह ने सुपथ दर्शा दिया, तो आपभी उन्हीं के मार्गदर्शन पर चलें तथा कह दें कि मैं इस (कार्य)[1] पर तुमसे कोई प्रतिदान नहीं माँगता। ये सब संसार वासियों के लिए एक शिक्षा के सिवा कुछ नहीं है।