Skip to main content

अल-अन्फाल आयत ६० | Al-Anfal 8:60

And prepare
وَأَعِدُّوا۟
और तैयार रखो
for them
لَهُم
उनके लिए
whatever
مَّا
जो
you able (to)
ٱسْتَطَعْتُم
इस्तिताअत रखते हो तुम
of
مِّن
क़ुव्वत में से
force
قُوَّةٍ
क़ुव्वत में से
and of
وَمِن
और बाँधे हुए घोड़ों से
tethered
رِّبَاطِ
और बाँधे हुए घोड़ों से
horses
ٱلْخَيْلِ
और बाँधे हुए घोड़ों से
(to) terrify
تُرْهِبُونَ
तुम डराओगे
therewith
بِهِۦ
साथ उसके
(the) enemy
عَدُوَّ
अल्लाह के दुश्मनों को
(the) enemy
ٱللَّهِ
अल्लाह के दुश्मनों को
and your enemy
وَعَدُوَّكُمْ
और अपने दुश्मनों को
and others
وَءَاخَرِينَ
और कुछ दूसरों को
from
مِن
उनके अलावा
besides them
دُونِهِمْ
उनके अलावा
not
لَا
नहीं तुम जानते उन्हें
(do) you know them
تَعْلَمُونَهُمُ
नहीं तुम जानते उन्हें
(but) Allah
ٱللَّهُ
अल्लाह
knows them
يَعْلَمُهُمْۚ
वो जानता है उन्हें
And whatever
وَمَا
और जो
you spend
تُنفِقُوا۟
तुम ख़र्च करोगे
from
مِن
कुछ भी
(any) thing
شَىْءٍ
कुछ भी
in
فِى
अल्लाह के रास्ते में
(the) way
سَبِيلِ
अल्लाह के रास्ते में
(of) Allah
ٱللَّهِ
अल्लाह के रास्ते में
it will be fully repaid
يُوَفَّ
वो पूरा-पूरा दिया जाएगा
to you
إِلَيْكُمْ
तुम्हें
and you
وَأَنتُمْ
और तुम
(will) not
لَا
ना तुम ज़ुल्म किए जाओगे
be wronged
تُظْلَمُونَ
ना तुम ज़ुल्म किए जाओगे

Waa'iddoo lahum ma istata'tum min quwwatin wamin ribati alkhayli turhiboona bihi 'aduwwa Allahi wa'aduwwakum waakhareena min doonihim la ta'lamoonahumu Allahu ya'lamuhum wama tunfiqoo min shayin fee sabeeli Allahi yuwaffa ilaykum waantum la tuthlamoona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और जो भी तुमसे हो सके, उनके लिए बल और बँधे घोड़े तैयार रखो, ताकि इसके द्वारा अल्लाह के शत्रुओं और अपने शत्रुओं और इनके अतिरिक्त उन दूसरे लोगों को भी भयभीत कर दो जिन्हें तुम नहीं जानते। अल्लाह उनको जानता है और अल्लाह के मार्ग में तुम जो कुछ भी ख़र्च करोगे, वह तुम्हें पूरा-पूरा चुका दिया जाएगा और तुम्हारे साथ कदापि अन्याय न होगा

English Sahih:

And prepare against them whatever you are able of power and of steeds of war by which you may terrify the enemy of Allah and your enemy and others besides them whom you do not know [but] whom Allah knows. And whatever you spend in the cause of Allah will be fully repaid to you, and you will not be wronged.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और (मुसलमानों तुम कुफ्फार के मुकाबले के) वास्ते जहाँ तक तुमसे हो सके (अपने बाज़ू के) ज़ोर से और बॅधे हुए घोड़े से लड़ाई का सामान मुहय्या करो इससे ख़ुदा के दुश्मन और अपने दुश्मन और उसके सिवा दूसरे लोगों पर भी अपनी धाक बढ़ा लेगें जिन्हें तुम नहीं जानते हो मगर ख़ुदा तो उनको जानता है और ख़ुदा की राह में तुम जो कुछ भी ख़र्च करोगें वह तुम पूरा पूरा भर पाओगें और तुम पर किसी तरह ज़ुल्म नहीं किया जाएगा

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा तुमसे जितनी हो सके, उनके लिए शक्ति तथा सीमा रक्षा के लिए घोड़े तैयार रखो, जिससे अल्लाह के शत्रुओं तथा अपने शत्रुओं को और इनके सिवा दूसरों को डराओ[1], जिन्हें तुम नहीं जानते, उन्हें अल्लाह ही जानता है और अल्लाह की राह में तुम जो भी व्यय (खर्च) करोगे, तुम्हें पूरा मिलेगा और तुमपर अत्याचार नहीं किया जायेगा।