Skip to main content

अत-तौबा आयत ११६ | At-Taubah 9:116

Indeed
إِنَّ
बेशक
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह
to Him (belongs)
لَهُۥ
उसी के लिए है
the dominion
مُلْكُ
बादशाहत
(of) the heavens
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों
and the earth
وَٱلْأَرْضِۖ
और ज़मीन की
He gives life
يُحْىِۦ
वो ज़िन्दा करता है
and He causes death
وَيُمِيتُۚ
और वो मौत देता है
And not
وَمَا
और नहीं
for you
لَكُم
तुम्हारे लिए
besides Allah
مِّن
सिवाय
besides Allah
دُونِ
सिवाय
besides Allah
ٱللَّهِ
अल्लाह के
any
مِن
कोई दोस्त
protector
وَلِىٍّ
कोई दोस्त
and not
وَلَا
और ना
any helper
نَصِيرٍ
कोई मददगार

Inna Allaha lahu mulku alssamawati waalardi yuhyee wayumeetu wama lakum min dooni Allahi min waliyyin wala naseerin

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

आकाशों और धरती का राज्य अल्लाह ही का है, वही जिलाता है और मारता है। अल्लाह से हटकर न तुम्हारा कोई मित्र है और न सहायक

English Sahih:

Indeed, to Allah belongs the dominion of the heavens and the earth; He gives life and causes death. And you have not besides Allah any protector or any helper.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

इसमें तो शक़ ही नहीं कि सारे आसमान व ज़मीन की हुकूमत ख़ुदा ही के लिए ख़ास है वही (जिसे चाहे) जिलाता है और (जिसे चाहे) मारता है और तुम लोगों का ख़ुदा के सिवा न कोई सरपरस्त है न मददगार

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

वास्तव में, अल्लाह ही है, जिसके अधिकार में आकाशों तथा धरती का राज्य है। वही जीवन देता तथा मारता है और तुम्हारे लिए उसके सिवा कोई संरक्षक और सहायक नहीं है।