Skip to main content

अत-तौबा आयत ३३ | At-Taubah 9:33

He
هُوَ
वो ही है
(is) the One Who
ٱلَّذِىٓ
जिसने
has sent
أَرْسَلَ
भेजा
His Messenger
رَسُولَهُۥ
अपने रसूल को
with the guidance
بِٱلْهُدَىٰ
साथ हिदायत
and the religion
وَدِينِ
और दीने
(of) [the] truth
ٱلْحَقِّ
हक़ के
to manifest it
لِيُظْهِرَهُۥ
ताकि वो ग़ालिब कर दे उसे
over
عَلَى
दीन पर
all religions
ٱلدِّينِ
दीन पर
all religions
كُلِّهِۦ
सबके सब
Even if
وَلَوْ
और अगरचे
dislike (it)
كَرِهَ
नापसंद करें
the polytheists
ٱلْمُشْرِكُونَ
मुशरिक

Huwa allathee arsala rasoolahu bialhuda wadeeni alhaqqi liyuthhirahu 'ala alddeeni kullihi walaw kariha almushrikoona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

वही है जिसने अपने रसूल को मार्गदर्शन और सत्यधर्म के साथ भेजा ताकि उसे तमाम दीन (धर्म) पर प्रभावी कर दे, चाहे मुशरिकों को बुरा लगे

English Sahih:

It is He who has sent His Messenger with guidance and the religion of truth to manifest it over all religion, although they who associate others with Allah dislike it.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

अगरचे कुफ्फ़ार बुरा माना करें वही तो (वह ख़ुदा) है कि जिसने अपने रसूल (मोहम्मद) को हिदायत और सच्चे दीन के साथ ( मबऊस करके) भेजता कि उसको तमाम दीनो पर ग़ालिब करे अगरचे मुशरेकीन बुरा माना करे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

उसीने अपने रसूल[1] को मार्गदर्शन तथा सत्धर्म (इस्लाम) के साथ भेजा है, ताकि उसे प्रत्येक धर्म पर प्रभुत्व प्रदान कर दे[2], यद्यपि मिश्रणवादियों को बुरा लगे।