Skip to main content

अल-बय्यिना आयत ८ | Al-Bayyina 98:8

Their reward
جَزَآؤُهُمْ
बदला उनका
(is) with
عِندَ
पास है
their Lord
رَبِّهِمْ
उनके रब के
Gardens
جَنَّٰتُ
बाग़ात
(of) Eternity
عَدْنٍ
हमेशगी के
flow
تَجْرِى
बहती हैं
from
مِن
उनके नीचे से
underneath them
تَحْتِهَا
उनके नीचे से
the rivers
ٱلْأَنْهَٰرُ
नहरें
will abide
خَٰلِدِينَ
हमेशा रहने वाले हैं
therein
فِيهَآ
उनमें
forever
أَبَدًاۖ
हमेशा-हमेशा
(will be) pleased
رَّضِىَ
राज़ी हो गया
Allah
ٱللَّهُ
अल्लाह
with them
عَنْهُمْ
उनसे
and they (will be) pleased
وَرَضُوا۟
और वो राज़ी हो गए
with Him
عَنْهُۚ
उससे
That
ذَٰلِكَ
ये
(is) for whoever
لِمَنْ
उसके लिए जो
feared
خَشِىَ
डर गया
his Lord
رَبَّهُۥ
अपने रब से

Jazaohum 'inda rabbihim jannatu 'adnin tajree min tahtiha alanharu khalideena feeha abadan radiya Allahu 'anhum waradoo 'anhu thalika liman khashiya rabbahu

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

उनका बदला उनके अपने रब के पास सदाबहार बाग़ है, जिनके नीचे नहरें बह रही होंगी। उनमें वे सदैव रहेंगे। अल्लाह उनसे राज़ी हुआ और वे उससे राज़ी हुए। यह कुछ उसके लिए है, जो अपने रब से डरा

English Sahih:

Their reward with their Lord will be gardens of perpetual residence beneath which rivers flow, wherein they will abide forever, Allah being pleased with them and they with Him. That is for whoever has feared his Lord.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

उनकी जज़ा उनके परवरदिगार के यहाँ हमेशा रहने (सहने) के बाग़ हैं जिनके नीचे नहरें जारी हैं और वह आबादुल आबाद हमेशा उसी में रहेंगे ख़ुदा उनसे राज़ी और वह ख़ुदा से ख़ुश ये (जज़ा) ख़ास उस शख़्श की है जो अपने परवरदिगार से डरे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

उनका प्रतिफल उनके पालनहार की ओर से सदा रहने वाले बाग़ हैं। जिनके नीचे नहरें बहती होंगी। वे उनमें सदा निवास करेंगे। अल्लाह उनसे प्रसन्न हुआ और वे अल्लाह से प्रसन्न हुए। ये उसके लिए है, जो अपने पालनहार से डरा।[1]