Skip to main content
And to
وَإِلَىٰ
और तरफ़
Aad
عَادٍ
आद के
(We sent) their brother
أَخَاهُمْ
उनके भाई
Hud
هُودًاۚ
हूद को (भेजा)
He said
قَالَ
उसने कहा
"O my people!
يَٰقَوْمِ
ऐ मेरी क़ौम
Worship
ٱعْبُدُوا۟
इबादत करो
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह की
not
مَا
नहीं
(is) for you
لَكُم
तुम्हारे लिए
any
مِّنْ
कोई इलाह (बरहक़)
god
إِلَٰهٍ
कोई इलाह (बरहक़)
other than Him
غَيْرُهُۥٓۖ
उसके सिवा
Not
إِنْ
नहीं
you
أَنتُمْ
तुम
(are) but
إِلَّا
मगर
inventors
مُفْتَرُونَ
झूठ गढ़ने वाले

Waila 'adin akhahum hoodan qala ya qawmi o'budoo Allaha ma lakum min ilahin ghayruhu in antum illa muftaroona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और 'आद' की ओर उनके भाई 'हूद' को भेजा। उसने कहा, 'ऐ मेरी क़ौम के लोगो! अल्लाह की बन्दगी करो। उसके सिवा तुम्हारा कोई पूज्य प्रभु नहीं। तुमने तो बस झूठ घड़ रखा हैं

English Sahih:

And to Aad [We sent] their brother Hud. He said, "O my people, worship Allah; you have no deity other than Him. You are not but inventors [of falsehood].

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और (हमने) क़ौमे आद के पास उनके भाई हूद को (पैग़म्बर बनाकर भेजा और) उन्होनें अपनी क़ौम से कहा ऐ मेरी क़ौम ख़ुदा ही की परसतिश करों उसके सिवा कोई तुम्हारा माबूद नहीं तुम बस निरे इफ़तेरा परदाज़ (झूठी बात बनाने वाले) हो

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और "आद" (जाति) की ओर उनके भाई हूद को भेजा, उसने कहाः हे मेरी जाति को लोगो! अल्लाह की इबादत (वंदना) करो। उसके सिवा तुम्हारा कोई पूज्य नहीं है। तुम इसके सिवा कुछ नहीं हो कि झूठी बातें घड़ने वाले हो[1]।