Skip to main content

अन नहल आयत १३ | An-Nahl 16:13

And whatever
وَمَا
और जो कुछ
He multiplied
ذَرَأَ
उसने फैला दिया
for you
لَكُمْ
तुम्हारे लिए
in
فِى
ज़मीन में
the earth
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में
(of) varying
مُخْتَلِفًا
मुख़्तलिफ़ हैं
colors
أَلْوَٰنُهُۥٓۗ
रंग उसके
Indeed
إِنَّ
यक़ीनन
in
فِى
उसमें
that
ذَٰلِكَ
उसमें
surely (is) a sign
لَءَايَةً
अलबत्ता एक निशानी है
for a people
لِّقَوْمٍ
उन लोगों के लिए
who remember
يَذَّكَّرُونَ
जो नसीहत पकड़ते हैं

Wama tharaa lakum fee alardi mukhtalifan alwanuhu inna fee thalika laayatan liqawmin yaththakkaroona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और धरती में तुम्हारे लिए जो रंग-बिरंग की चीज़े बिखेर रखी है, उसमें भी उन लोगों के लिए बड़ी निशानी है जो शिक्षा लेनेवाले है

English Sahih:

And [He has subjected] whatever He multiplied for you on the earth of varying colors. Indeed in that is a sign for a people who remember.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और जो तरह तरह के रंगों की चीज़े उसमें ज़मीन में तुम्हारे नफे के वास्ते पैदा की

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा जो तुम्हारे लिए धरती में विभिन्न रंगों की चीजें उत्पन्न की हैं, वास्तव में, इसमें एक बड़ी निशानी लक्षण) है, उन लोगों के लिए, जो शिक्षा ग्रहण करते हैं।