Skip to main content

अल-अम्बिया आयत ४१ | Al-Ambiya 21:41

And verily
وَلَقَدِ
अलबत्ता तहक़ीक़
were mocked
ٱسْتُهْزِئَ
मज़ाक़ उड़ाया गया
Messengers
بِرُسُلٍ
कई रसूलों का
before you
مِّن
आपसे पहले
before you
قَبْلِكَ
आपसे पहले
then surrounded
فَحَاقَ
तो घेर लिया
those who
بِٱلَّذِينَ
उनको जिन्होंने
mocked
سَخِرُوا۟
मज़ाक़ उड़ाया
from them
مِنْهُم
उनमें से
what
مَّا
उसने जो
they used
كَانُوا۟
थे वो
at it
بِهِۦ
जिसका
(to) mock
يَسْتَهْزِءُونَ
वो मज़ाक उड़ाते

Walaqadi istuhzia birusulin min qablika fahaqa biallatheena sakhiroo minhum ma kanoo bihi yastahzioona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

तुमसे पहले भी रसूलों की हँसी उड़ाई जा चुकी है, किन्तु उनमें से जिन लोगों ने उनकी हँसी उड़ाई थी उन्हें उसी चीज़ ने आ घेरा, जिसकी वे हँसी उड़ाते थे

English Sahih:

And already were messengers ridiculed before you, but those who mocked them were enveloped by what they used to ridicule.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और (ऐ रसूल) कुछ तुम ही नहीं तुमसे पहले पैग़म्बरों के साथ मसख़रापन किया जा चुका है तो उन पैग़म्बरों से मसखरापन करने वालों को उस सख्त अज़ाब ने आ घेर लिया जिसकी वह हँसी उड़ाया करते थे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और उपहास किया गया बहुत-से रसूलों का, आपसे पहले, तो घेर लिया उन्हें जिन्होंने उपहास किया उनमें से, उस चीज़ ने, जिस[1] का उपहास कर रहे थे।