Skip to main content

अल-मुमिनून आयत ३३ | Al-Mu’minun 23:33

And said
وَقَالَ
और कहा
the chiefs
ٱلْمَلَأُ
सरदारों ने
of
مِن
उस की क़ौम से
his people
قَوْمِهِ
उस की क़ौम से
who
ٱلَّذِينَ
जिन्होंने
disbelieved
كَفَرُوا۟
कुफ़्र किया
and denied
وَكَذَّبُوا۟
और झुठलाया
(the) meeting
بِلِقَآءِ
मुलाक़ात को
(of) the Hereafter
ٱلْءَاخِرَةِ
आख़िरत की
while We had given them luxury
وَأَتْرَفْنَٰهُمْ
और ख़ुशहाली दी हमने उन्हें
in
فِى
ज़िन्दगी में
the life
ٱلْحَيَوٰةِ
ज़िन्दगी में
(of) the world
ٱلدُّنْيَا
दुनिया की
"Not
مَا
नहीं
(is) this
هَٰذَآ
ये
but
إِلَّا
मगर
a man
بَشَرٌ
एक इन्सान
like you
مِّثْلُكُمْ
तुम्हारे जैसा
He eats
يَأْكُلُ
वो खाता है
of what
مِمَّا
उस से जो
you eat
تَأْكُلُونَ
तुम खाते हो
[from it]
مِنْهُ
जिससे
and he drinks
وَيَشْرَبُ
और वो पीता है
of what
مِمَّا
उस से जो
you drink
تَشْرَبُونَ
तुम पीते हो

Waqala almalao min qawmihi allatheena kafaroo wakaththaboo biliqai alakhirati waatrafnahum fee alhayati alddunya ma hatha illa basharun mithlukum yakulu mimma takuloona minhu wayashrabu mimma tashraboona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

उसकी क़ौम के सरदार, जिन्होंने इनकार किया और आख़िरत के मिलन को झूठलाया और जिन्हें हमने सांसारिक जीवन में सुख प्रदान किया था, कहने लगे, 'यह तो बस तुम्हीं जैसा एक मनुष्य है। जो कुछ तुम खाते हो, वही यह भी खाता है और जो कुछ तुम पीते हो, वही यह भी पीता है

English Sahih:

And the eminent among his people who disbelieved and denied the meeting of the Hereafter while We had given them luxury in the worldly life said, "This is not but a man like yourselves. He eats of that from which you eat and drinks of what you drink.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और उनकी क़ौम के चन्द सरदारों ने जो काफिर थे और (रोज़) आख़िरत की हाज़िरी को भी झुठलाते थे और दुनिया की (चन्द रोज़ा) ज़िन्दगी में हमने उन्हें शहवत भी दे रखी थी आपस में कहने लगे (अरे) ये तो बस तुम्हारा ही सा आदमी है जो चीज़े तुम खाते वही ये भी खाता है और जो चीज़े तुम पीते हो उन्हीं में से ये भी पीता है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और उसकी जाति के प्रमुखों ने कहा, जो काफ़िर हो गये तथा आख़िरत (परलोक) का सामना करने को झुठला दिया तथा हमने उन्हें सम्पन्न किया था, सांसारिक जीवन में: ये तो बस एक मनुष्य है तुम्हारे जैसा, खाता है, जो तुम खाते हो और पीता है, जो तुम पीते हो।