Skip to main content

अल-क़सस आयत २० | Al-Qasas 28:20

And came
وَجَآءَ
और आया
a man
رَجُلٌ
एक शख़्स
from
مِّنْ
आख़िरी किनारे से
(the) farthest end
أَقْصَا
आख़िरी किनारे से
(of) the city
ٱلْمَدِينَةِ
शहर के
running
يَسْعَىٰ
दौड़ता हुआ
He said
قَالَ
कहा
"O Musa!
يَٰمُوسَىٰٓ
ऐ मूसा
Indeed
إِنَّ
बेशक
the chiefs
ٱلْمَلَأَ
सरदार
are taking counsel
يَأْتَمِرُونَ
वो मशवरा कर रहे हैं
about you
بِكَ
तेरे बारे में
to kill you
لِيَقْتُلُوكَ
कि वो क़त्ल कर दें तुझे
so leave;
فَٱخْرُجْ
पस निकल जा
indeed I am
إِنِّى
बेशक मैं
to you
لَكَ
तेरे लिए
of
مِنَ
ख़ैर ख़्वाहों में से हूँ
the sincere advisors"
ٱلنَّٰصِحِينَ
ख़ैर ख़्वाहों में से हूँ

Wajaa rajulun min aqsa almadeenati yas'a qala ya moosa inna almalaa yatamiroona bika liyaqtulooka faokhruj innee laka mina alnnasiheena

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

इसके पश्चात एक आदमी नगर के परले सिरे से दौड़ता हुआ आया। उसने कहा, 'ऐ मूसा, सरदार तेरे विषय में परामर्श कर रहे हैं कि तुझे मार डालें। अतः तू निकल जा! मैं तेरा हितैषी हूँ।'

English Sahih:

And a man came from the farthest end of the city, running. He said, "O Moses, indeed the eminent ones are conferring over you [intending] to kill you, so leave [the city]; indeed, I am to you of the sincere advisors."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और एक शख्स शहर के उस किनारे से डराता हुआ आया और (मूसा से) कहने लगा मूसा (तुम ये यक़ीन जानो कि शहर के) बड़े बड़े आदमी तुम्हारे आदमी तुम्हारे बारे में मशवरा कर रहे हैं कि तुमको कत्ल कर डालें तो तुम (शहर से) निकल भागो

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और आया एक पुरुष नगर के किनारे से दौड़ता हुआ, उसने कहाः हे मूसा! (राज्य के) प्रमुख प्रामर्श कर रहे हैं तेरे विषय में कि तुझे वध कर दें, अतः तू निकल जा। वास्तव में, मैं तेरे शुभचिन्तकों में से हूँ।