Skip to main content

अल-क़सस आयत ३४ | Al-Qasas 28:34

And my brother
وَأَخِى
और मेरा भाई
Harun
هَٰرُونُ
हारून
he
هُوَ
वो
(is) more eloquent
أَفْصَحُ
ज़्यादा फ़सीह है
than me
مِنِّى
मुझसे
(in) speech
لِسَانًا
ज़बान में
so send him
فَأَرْسِلْهُ
तो भेज दे उसे
with me
مَعِىَ
मेरे साथ
(as) a helper
رِدْءًا
मददगार के तौर पर
who will confirm me
يُصَدِّقُنِىٓۖ
वो तस्दीक़ करे मेरी
Indeed
إِنِّىٓ
बेशक मैं
I fear
أَخَافُ
मैं डरता हूँ
that
أَن
कि
they will deny me"
يُكَذِّبُونِ
वो झुठला देंगे मुझे

Waakhee haroonu huwa afsahu minnee lisanan faarsilhu ma'iya ridan yusaddiqunee innee akhafu an yukaththibooni

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

मेरे भाई हारून की ज़बान मुझसे बढ़कर धाराप्रवाह है। अतः उसे मेरे साथ सहायक के रूप में भेज कि वह मेरी पुष्टि करे। मुझे भय है कि वे मुझे झुठलाएँगे।'

English Sahih:

And my brother Aaron is more fluent than me in tongue, so send him with me as support, verifying me. Indeed, I fear that they will deny me."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और मेरा भाई हारुन वह मुझसे (ज़बान में ज्यादा) फ़सीह है तो तू उसे मेरे साथ मेरा मददगार बनाकर भेज कि वह मेरी तसदीक करे क्योंकि यक़ीनन मै इस बात से डरता हूँ कि मुझे वह लोग झुठला देंगे (तो उनके जवाब के लिए गोयाइ की ज़रुरत है)

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और मेरा भाई हारून मुझसे अधिक सुभाषी है, तू उसे भी भेज दे मेरे साथ सहायक बनाकर, ताकि वह मेरा समर्थन करे, मैं डरता हूँ कि वे मुझे झुठला देंगे।