Skip to main content

अल-क़सस आयत ६१ | Al-Qasas 28:61

Then is (he) whom
أَفَمَن
क्या भला वो जो
We have promised him
وَعَدْنَٰهُ
वादा किया हमने उससे
a promise
وَعْدًا
वादा
good
حَسَنًا
अच्छा
and he
فَهُوَ
फिर वो
(will) meet it
لَٰقِيهِ
पाने वाला है उसे
like (the one) whom
كَمَن
मानिन्द उसके हो सकता है
We provided him
مَّتَّعْنَٰهُ
सामान दिया हमने जिसे
enjoyment
مَتَٰعَ
सामान
(of the) life
ٱلْحَيَوٰةِ
ज़िन्दगी का
(of) the world
ٱلدُّنْيَا
दुनिया की
then
ثُمَّ
फिर
he
هُوَ
वो
(on the) Day
يَوْمَ
दिन
(of) the Resurrection
ٱلْقِيَٰمَةِ
क़यामत के
(will be) among
مِنَ
हाज़िर किए जाने वालों में से होगा
those presented?
ٱلْمُحْضَرِينَ
हाज़िर किए जाने वालों में से होगा

Afaman wa'adnahu wa'dan hasanan fahuwa laqeehi kaman matta'nahu mata'a alhayati alddunya thumma huwa yawma alqiyamati mina almuhdareena

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

भला वह व्यक्ति जिससे हमने अच्छा वादा किया है और वह उसे पानेवाला भी हो, वह उस व्यक्ति की तरह हो सकता है जिसे हमने सांसारिक जीवन की सामग्री दे दी हो, फिर वह क़ियामत के दिन पकड़कर पेश किया जानेवाला हो?

English Sahih:

Then is he whom We have promised a good promise which he will meet [i.e., obtain] like he for whom We provided enjoyment of worldly life [but] then he is, on the Day of Resurrection, among those presented [for punishment in Hell]?

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

तो क्या वह शख्स जिससे हमने (बेहश्त का) अच्छा वायदा किया है और वह उसे पाकर रहेगा उस शख्स के बराबर हो सकता है जिसे हमने दुनियावी ज़िन्दगी के (चन्द रोज़ा) फायदे अता किए हैं और फिर क़यामत के दिन (जवाब देही के वास्ते हमारे सामने) हाज़िर किए जाएँगें

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तो क्या जिसे हमने वचन दिया है एक अच्छा वचन और वह पाने वाला हो उसे, उसके जैसा हो सकता है, जिसे हमने दे रखा है सांसारिक जीवन का सामान, फिर वह प्रलय के दिन उपस्थित किये लोगों में होगा[1]?