Skip to main content

अल-अनकबूत आयत ५६ | Al-Ankabut 29:56

O My servants
يَٰعِبَادِىَ
ऐ मेरे बन्दों
who
ٱلَّذِينَ
वो जो
believe!
ءَامَنُوٓا۟
ईमान लाए हो
Indeed
إِنَّ
बेशक
My earth
أَرْضِى
मेरी ज़मीन
(is) spacious
وَٰسِعَةٌ
वसीअ है
so only
فَإِيَّٰىَ
पस सिर्फ़ मेरी ही
worship Me
فَٱعْبُدُونِ
पस तुम इबादत करो मेरी

Ya 'ibadiya allatheena amanoo inna ardee wasi'atun faiyyaya fao'budooni

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

ऐ मेरे बन्दों, जो ईमान लाए हो! निस्संदेह मेरी धरती विशाल है। अतः तुम मेरी ही बन्दगी करो

English Sahih:

O My servants who have believed, indeed My earth is spacious, so worship only Me.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

ऐ मेरे ईमानदार बन्दों मेरी ज़मीन तो यक़ीनन कुशादा है तो तुम मेरी ही इबादत करो

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

हे मेरे भक्तो जो ईमान लाये हो! वास्तव में, मेरी धरती विशाल है, अतः, तुम मेरी ही इबादत (वंदना)[1] करो।