Skip to main content

फातिर आयत ३७ | Fatir 35:37

And they
وَهُمْ
और वो
will cry
يَصْطَرِخُونَ
वो चिल्लाऐंगे
therein
فِيهَا
उसमें
"Our Lord!
رَبَّنَآ
ऐ हमारे रब
Bring us out;
أَخْرِجْنَا
निकाल हमें
we will do
نَعْمَلْ
हम अमल करें
righteous (deeds)
صَٰلِحًا
नेक
other than
غَيْرَ
अलावा
(that) which
ٱلَّذِى
उसके जो
we used
كُنَّا
थे हम
(to) do"
نَعْمَلُۚ
हम अमल करते
Did not
أَوَلَمْ
क्या भला नहीं
We give you life long enough
نُعَمِّرْكُم
हमने उमर दी तुम्हें
that
مَّا
कि
(would) receive admonition
يَتَذَكَّرُ
नसीहत पकड़ता
therein
فِيهِ
उसमें
whoever
مَن
जो
receives admonition?
تَذَكَّرَ
नसीहत पकड़ता
And came to you
وَجَآءَكُمُ
और आ गया तुम्हारे पास
the warner
ٱلنَّذِيرُۖ
डराने वाला
So taste
فَذُوقُوا۟
पस चखो
then not
فَمَا
तो नहीं
(is) for the wrongdoers
لِلظَّٰلِمِينَ
ज़ालिमों के लिए
any
مِن
कोई मददगार
helper
نَّصِيرٍ
कोई मददगार

Wahum yastarikhoona feeha rabbana akhrijna na'mal salihan ghayra allathee kunna na'malu awalam nu'ammirkum ma yatathakkaru feehi man tathakkara wajaakumu alnnatheeru fathooqoo fama lilththalimeena min naseerin

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

वे वहाँ चिल्लाएँगे कि 'ऐ हमारे रब! हमें निकाल ले। हम अच्छा कर्म करेंगे, उससे भिन्न जो हम करते रहे।' 'क्या हमने तुम्हें इतनी आयु नहीं दी कि जिसमें कोई होश में आना चाहता तो होश में आ जाता? और तुम्हारे पास सचेतकर्ता भी आया था, तो अब मज़ा चखते रहो! ज़ालिमोंं को कोई सहायक नहीं!'

English Sahih:

And they will cry out therein, "Our Lord, remove us; we will do righteousness – other than what we were doing!" But did We not grant you life enough for whoever would remember therein to remember, and the warner had come to you? So taste [the punishment], for there is not for the wrongdoers any helper.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और ये लोग दोजख़ में (पड़े) चिल्लाया करेगें कि परवरदिगार अब हमको (यहाँ से) निकाल दे तो जो कुछ हम करते थे उसे छोड़कर नेक काम करेंगे (तो ख़ुदा जवाब देगा कि) क्या हमने तुम्हें इतनी उम्रें न दी थी कि जिनमें जिसको जो कुछ सोंचना समझना (मंज़ूर) हो खूब सोच समझ ले और (उसके अलावा) तुम्हारे पास (हमारा) डराने वाला (पैग़म्बर) भी पहुँच गया था तो (अपने किए का मज़ा) चखो क्योंकि सरकश लोगों का कोई मद्दगार नहीं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और वे उसमें चिल्लायेंगेः हे हमारे पालनहार! हमें निकाल दे, हम सदाचार करेंगे उसके अतिरिक्त, जो कर रहे थे। क्या हमने तुम्हें इतनी आयु नहीं दी, जिसमें शिक्षा ग्रहण कर ले, जो शिक्षा ग्रहण करे तथा आया तुम्हारे पास सचेतकर्ता (नबी)? अतः, तुम चखो, अत्याचारियों का कोई सहायक नहीं है।