Skip to main content
bismillah
ٱلْحَمْدُ
सब तारीफ़
لِلَّهِ
अल्लाह के लिए है
فَاطِرِ
पैदा करने वाला है
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों
وَٱلْأَرْضِ
और ज़मीन का
جَاعِلِ
बनाने वाला है
ٱلْمَلَٰٓئِكَةِ
फ़रिश्तों को
رُسُلًا
पैग़ामबर
أُو۟لِىٓ
परों वाले
أَجْنِحَةٍ
परों वाले
مَّثْنَىٰ
दो-दो
وَثُلَٰثَ
और तीन-तीन
وَرُبَٰعَۚ
और चार- चार
يَزِيدُ
वो इज़ाफ़ा करता है
فِى
तख़लीक़ में
ٱلْخَلْقِ
तख़लीक़ में
مَا
जो
يَشَآءُۚ
वो चाहता है
إِنَّ
बेशक
ٱللَّهَ
अल्लाह
عَلَىٰ
ऊपर
كُلِّ
हर
شَىْءٍ
चीज़ के
قَدِيرٌ
ख़ूब क़ुदरत रखने वाला है

Alhamdu lillahi fatiri alssamawati waalardi ja'ili almalaikati rusulan olee ajnihatin mathna wathulatha waruba'a yazeedu fee alkhalqi ma yashao inna Allaha 'ala kulli shayin qadeerun

सब प्रशंसा अल्लाह के लिए है, जो आकाशों और धरती का पैदा करनेवाला है। दो-दो, तीन-तीन और चार-चार फ़रिश्तों को बाज़ुओंवालों सन्देशवाहक बनाकर नियुक्त करता है। वह संरचना में जैसी चाहता है, अभिवृद्धि करता है। निश्चय ही अल्लाह को हर चीज़ की सामर्थ्य प्राप्त है

Tafseer (तफ़सीर )
مَّا
जो
يَفْتَحِ
खोल दे
ٱللَّهُ
अल्लाह
لِلنَّاسِ
लोगों के लिए
مِن
कोई रहमत
رَّحْمَةٍ
कोई रहमत
فَلَا
तो नहीं
مُمْسِكَ
कोई बन्द करने वाला
لَهَاۖ
उसे
وَمَا
और जो
يُمْسِكْ
वो बन्द कर दे
فَلَا
तो नहीं
مُرْسِلَ
कोई भेजने वाला
لَهُۥ
उसे
مِنۢ
बाद उसके
بَعْدِهِۦۚ
बाद उसके
وَهُوَ
और वो
ٱلْعَزِيزُ
बहुत ज़बरदस्त है
ٱلْحَكِيمُ
ख़ूब हिकमत वाला है

Ma yaftahi Allahu lilnnasi min rahmatin fala mumsika laha wama yumsik fala mursila lahu min ba'dihi wahuwa al'azeezu alhakeemu

अल्लाह जो दयालुता लोगों के लिए खोल दे उसे कोई रोकनेवाला नहीं और जिसे वह रोक ले तो उसके बाद उसे कोई जारी करनेवाला भी नहीं। वह अत्यन्त प्रभुत्वशाली, तत्वदर्शी है

Tafseer (तफ़सीर )
يَٰٓأَيُّهَا
ऐ लोगो
ٱلنَّاسُ
ऐ लोगो
ٱذْكُرُوا۟
याद करो
نِعْمَتَ
नेअमत को
ٱللَّهِ
अल्लाह की
عَلَيْكُمْۚ
जो तुम पर है
هَلْ
क्या है
مِنْ
कोई पैदा करने वाला
خَٰلِقٍ
कोई पैदा करने वाला
غَيْرُ
सिवाय
ٱللَّهِ
अल्लाह के
يَرْزُقُكُم
जो रिज़्क़ देता हो तुम्हें
مِّنَ
आसमान से
ٱلسَّمَآءِ
आसमान से
وَٱلْأَرْضِۚ
और ज़मीन से
لَآ
नहीं
إِلَٰهَ
कोई इलाह(बरहक़ )
إِلَّا
मगर
هُوَۖ
वो ही
فَأَنَّىٰ
तो कहाँ से
تُؤْفَكُونَ
तुम फेरे जाते हो

Ya ayyuha alnnasu othkuroo ni'mata Allahi 'alaykum hal min khaliqin ghayru Allahi yarzuqukum mina alssamai waalardi la ilaha illa huwa faanna tufakoona

ऐ लोगो! अल्लाह की तुमपर जो अनुकम्पा है, उसे याद करो। क्या अल्लाह के सिवा कोई और पैदा करनेवाला है, जो तुम्हें आकाश और धरती से रोज़ी देता हो? उसके सिवा कोई पूज्य-प्रभु नहीं। तो तुम कहाँ से उलटे भटके चले जा रहे हो?

Tafseer (तफ़सीर )
وَإِن
और अगर
يُكَذِّبُوكَ
वो झुठलाते हैं आपको
فَقَدْ
तो तहक़ीक़
كُذِّبَتْ
झुठलाए गए
رُسُلٌ
कई रसूल
مِّن
आपसे पहले
قَبْلِكَۚ
आपसे पहले
وَإِلَى
और तरफ़ अल्लाह ही के
ٱللَّهِ
और तरफ़ अल्लाह ही के
تُرْجَعُ
लौटाए जाते हैं
ٱلْأُمُورُ
सब काम

Wain yukaththibooka faqad kuththibat rusulun min qablika waila Allahi turja'u alomooru

और यदि वे तुम्हें झुठलाते तो तुमसे पहले भी कितने ही रसूल झुठलाए जा चुके है। सारे मामले अल्लाह ही की ओर पलटते हैं

Tafseer (तफ़सीर )
يَٰٓأَيُّهَا
ऐ लोगो
ٱلنَّاسُ
ऐ लोगो
إِنَّ
बेशक
وَعْدَ
वादा
ٱللَّهِ
अल्लाह का
حَقٌّۖ
सच्चा है
فَلَا
तो ना
تَغُرَّنَّكُمُ
हरगिज़ धोके में डाले तुम्हें
ٱلْحَيَوٰةُ
ज़िन्दगी
ٱلدُّنْيَاۖ
दुनिया की
وَلَا
और ना
يَغُرَّنَّكُم
हरगिज़ धोके में डाले तुम्हें
بِٱللَّهِ
अल्लाह के बारे में
ٱلْغَرُورُ
बड़ा धोकेबाज़

Ya ayyuha alnnasu inna wa'da Allahi haqqun fala taghurrannakumu alhayatu alddunya wala yaghurrannakum biAllahi algharooru

ऐ लोगों! निश्चय ही अल्लाह का वादा सच्चा है। अतः सांसारिक जीवन तुम्हें धोखे में न डाले और न वह धोखेबाज़ अल्लाह के विषय में तुम्हें धोखा दे

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّ
बिलाशुबह
ٱلشَّيْطَٰنَ
शैतान
لَكُمْ
तुम्हारा
عَدُوٌّ
दुश्मन है
فَٱتَّخِذُوهُ
तो बनाओ उसे
عَدُوًّاۚ
दुश्मन
إِنَّمَا
बेशक
يَدْعُوا۟
वो बुलाता है
حِزْبَهُۥ
अपने गिरोह को
لِيَكُونُوا۟
ताकि वो हो जाऐं
مِنْ
साथियों में से
أَصْحَٰبِ
साथियों में से
ٱلسَّعِيرِ
भड़कती आग के

Inna alshshaytana lakum 'aduwwun faittakhithoohu 'aduwwan innama yad'oo hizbahu liyakoonoo min ashabi alssa'eeri

निश्चय ही शैतान तुम्हारा शत्रु है। अतः तुम उसे शत्रु ही समझो। वह तो अपने गिरोह को केवल इसी लिए बुला रहा है कि वे दहकती आगवालों में सम्मिलित हो जाएँ

Tafseer (तफ़सीर )
ٱلَّذِينَ
वो जिन्होंने
كَفَرُوا۟
कुफ़्र किया
لَهُمْ
उनके लिए
عَذَابٌ
अज़ाब है
شَدِيدٌۖ
सख़्त
وَٱلَّذِينَ
और वो जो
ءَامَنُوا۟
ईमान लाए
وَعَمِلُوا۟
और उन्होंने अमल किए
ٱلصَّٰلِحَٰتِ
नेक
لَهُم
उनके लिए
مَّغْفِرَةٌ
बख़्शिश है
وَأَجْرٌ
और अजर है
كَبِيرٌ
बहुत बड़ा

Allatheena kafaroo lahum 'athabun shadeedun waallatheena amanoo wa'amiloo alssalihati lahum maghfiratun waajrun kabeerun

वे लोग है कि जिन्होंने इनकार किया उनके लिए कठोर यातना है। किन्तु जो ईमान लाए और उन्होंने अच्छे कर्म किए उनके लिए क्षमा और बड़ा प्रतिदान है

Tafseer (तफ़सीर )
أَفَمَن
क्या भला वो जो
زُيِّنَ
मुज़य्यन कर दिया गया
لَهُۥ
उसके लिए
سُوٓءُ
बुरा
عَمَلِهِۦ
अमल उसका
فَرَءَاهُ
फिर वो देखे उसे
حَسَنًاۖ
ख़ूबसूरत
فَإِنَّ
तो बेशक
ٱللَّهَ
अल्लाह
يُضِلُّ
वो गुमराह करता है
مَن
जिसे
يَشَآءُ
वो चाहता है
وَيَهْدِى
और वो हिदायत देता है
مَن
जिसे
يَشَآءُۖ
वो चाहता है
فَلَا
पस ना
تَذْهَبْ
जाती रहे
نَفْسُكَ
आपकी जान
عَلَيْهِمْ
उन पर
حَسَرَٰتٍۚ
हसरतें करके
إِنَّ
बेशक
ٱللَّهَ
अल्लाह
عَلِيمٌۢ
ख़ूब जानने वाला है
بِمَا
जो कुछ
يَصْنَعُونَ
वो करते हैं

Afaman zuyyina lahu sooo 'amalihi faraahu hasanan fainna Allaha yudillu man yashao wayahdee man yashao fala tathhab nafsuka 'alayhim hasaratin inna Allaha 'aleemun bima yasna'oona

फिर क्या वह व्यक्ति जिसके लिए उसका बुरा कर्म सुहाना बना दिया गया हो और वह उसे अच्छा दिख रहा हो (तो क्या वह बुराई को छोड़ेगा)? निश्चय ही अल्लाह जिसे चाहता है मार्ग से वंचित रखता है और जिसे चाहता है सीधा मार्ग दिखाता है। अतः उनपर अफ़सोस करते-करते तुम्हारी जान न जाती रहे। अल्लाह भली-भाँति जानता है जो कुछ वे रच रहे है

Tafseer (तफ़सीर )
وَٱللَّهُ
और अल्लाह
ٱلَّذِىٓ
वो है जिसने
أَرْسَلَ
भेजा
ٱلرِّيَٰحَ
हवाओं को
فَتُثِيرُ
तो वो उठाती हैं
سَحَابًا
बादल
فَسُقْنَٰهُ
फिर चलाते हैं हम उसे
إِلَىٰ
तरफ़ शहर
بَلَدٍ
तरफ़ शहर
مَّيِّتٍ
मुर्दा के
فَأَحْيَيْنَا
फिर ज़िन्दा करते हैं हम
بِهِ
साथ उसके
ٱلْأَرْضَ
ज़मीन को
بَعْدَ
बाद
مَوْتِهَاۚ
उसकी मौत के
كَذَٰلِكَ
इसी तरह होगा
ٱلنُّشُورُ
उठाया जाना

WaAllahu allathee arsala alrriyaha fatutheeru sahaban fasuqnahu ila baladin mayyitin faahyayna bihi alarda ba'da mawtiha kathalika alnnushooru

अल्लाह ही तो है जिसने हवाएँ चलाई फिर वह बादलों को उभारती है, फिर हम उसे किसी शुष्क और निर्जीव भूभाग की ओर ले गए, और उसके द्वारा हमने धरती को उसके मुर्दा हो जाने के पश्चात जीवित कर दिया। इसी प्रकार (लोगों का नए सिरे से) जीवित होकर उठना भी है

Tafseer (तफ़सीर )
مَن
जो कोई
كَانَ
है
يُرِيدُ
चाहता
ٱلْعِزَّةَ
इज़्ज़त
فَلِلَّهِ
तो अल्लाह ही के लिए है
ٱلْعِزَّةُ
इज़्ज़त
جَمِيعًاۚ
सारी की सारी
إِلَيْهِ
तरफ़ उसी के
يَصْعَدُ
चढ़ते हैं
ٱلْكَلِمُ
कलमात
ٱلطَّيِّبُ
पाकीज़ा
وَٱلْعَمَلُ
और अमल
ٱلصَّٰلِحُ
सालेह
يَرْفَعُهُۥۚ
बुलन्द करता है उसे
وَٱلَّذِينَ
और वो जो
يَمْكُرُونَ
मकर करते हैं
ٱلسَّيِّـَٔاتِ
बुरे
لَهُمْ
उनके लिए
عَذَابٌ
अज़ाब है
شَدِيدٌۖ
सख़्त
وَمَكْرُ
और मकर
أُو۟لَٰٓئِكَ
उन लोगों का
هُوَ
वो
يَبُورُ
वो तबाह हो जाएगा

Man kana yureedu al'izzata falillahi al'izzatu jamee'an ilayhi yas'adu alkalimu alttayyibu waal'amalu alssalihu yarfa'uhu waallatheena yamkuroona alssayyiati lahum 'athabun shadeedun wamakru olaika huwa yabooru

जो कोई प्रभुत्व चाहता हो तो प्रभुत्व तो सारा का सारा अल्लाह के लिए है। उसी की ओर अच्छा-पवित्र बोल चढ़ता है और अच्छा कर्म उसे ऊँचा उठाता है। रहे वे लोग जो बुरी चालें चलते है, उनके लिए कठोर यातना है और उनकी चालबाज़ी मटियामेट होकर रहेगी

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
फातिर
القرآن الكريم:فاطر
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Fatir
सूरा:35
कुल आयत:45
कुल शब्द:970
कुल वर्ण:3130
रुकु:5
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:43
से शुरू आयत:3660