Skip to main content

यासीन आयत ६० | Yasin 36:60

Did not
أَلَمْ
क्या नहीं
I enjoin
أَعْهَدْ
मैं ने ताकीद की थी
upon you
إِلَيْكُمْ
तुम्हें
O Children of Adam!
يَٰبَنِىٓ
ऐ बनी
O Children of Adam!
ءَادَمَ
आदम
That
أَن
कि
(do) not
لَّا
ना तुम इबादत करना
worship
تَعْبُدُوا۟
ना तुम इबादत करना
the Shaitaan
ٱلشَّيْطَٰنَۖ
शैतान की
indeed, he
إِنَّهُۥ
बेशक वो
(is) for you
لَكُمْ
तुम्हारा
an enemy
عَدُوٌّ
दुश्मन है
clear
مُّبِينٌ
खुल्लम-खुल्ला

Alam a'had ilaykum ya banee adama an la ta'budoo alshshaytana innahu lakum 'aduwwun mubeenun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

क्या मैंने तुम्हें ताकीद नहीं की थी, ऐ आदम के बेटो! कि शैतान की बन्दगी न करे। वास्तव में वह तुम्हारा खुला शत्रु है

English Sahih:

Did I not enjoin upon you, O children of Adam, that you not worship Satan – [for] indeed, he is to you a clear enemy –

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

ऐ आदम की औलाद क्या मैंने तुम्हारे पास ये हुक्म नहीं भेजा था कि (ख़बरदार) शैतान की परसतिश न करना वह यक़ीनी तुम्हारा खुल्लम खुल्ला दुश्मन है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

हे आदम की संतान! क्या मैंने तुमसे बल देकर नहीं कहा था कि इबादत (वंदना) न करना शैतान की? वास्तव में, वह तुम्हारा खुला शत्रु है।