Skip to main content
bismillah
يسٓ
ي س

Yaseen

या॰ सीन॰

Tafseer (तफ़सीर )
وَٱلْقُرْءَانِ
क़सम है क़ुरआन
ٱلْحَكِيمِ
हिकमत वाले की

Waalqurani alhakeemi

गवाह है हिकमतवाला क़ुरआन

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّكَ
बेशक आप
لَمِنَ
अलबत्ता रसूलों में से हैं
ٱلْمُرْسَلِينَ
अलबत्ता रसूलों में से हैं

Innaka lamina almursaleena

- कि तुम निश्चय ही रसूलों में से हो

Tafseer (तफ़सीर )
عَلَىٰ
ऊपर
صِرَٰطٍ
रास्ते
مُّسْتَقِيمٍ
सीधे के

'ala siratin mustaqeemin

एक सीधे मार्ग पर

Tafseer (तफ़सीर )
تَنزِيلَ
नाज़िल करदा है
ٱلْعَزِيزِ
बहुत ज़बरदस्त का
ٱلرَّحِيمِ
निहायत रहम करने वाले का

Tanzeela al'azeezi alrraheemi

- क्या ही ख़ूब है, प्रभुत्वशाली, अत्यन्त दयावाल का इसको अवतरित करना!

Tafseer (तफ़सीर )
لِتُنذِرَ
ताकि आप डराऐं
قَوْمًا
एक क़ौम को
مَّآ
नहीं
أُنذِرَ
डराए गए
ءَابَآؤُهُمْ
आबा ओ अजदाद उनके
فَهُمْ
पस वो
غَٰفِلُونَ
ग़ाफिल हैं

Litunthira qawman ma onthira abaohum fahum ghafiloona

ताकि तुम ऐसे लोगों को सावधान करो, जिनके बाप-दादा को सावधान नहीं किया गया; इस कारण वे गफ़लत में पड़े हुए है

Tafseer (तफ़सीर )
لَقَدْ
अलबत्ता तहक़ीक़
حَقَّ
सच हो गई
ٱلْقَوْلُ
बात
عَلَىٰٓ
उनकी अक्सरियत पर
أَكْثَرِهِمْ
उनकी अक्सरियत पर
فَهُمْ
पस वो
لَا
नहीं वो ईमान लाऐंगे
يُؤْمِنُونَ
नहीं वो ईमान लाऐंगे

Laqad haqqa alqawlu 'ala aktharihim fahum la yuminoona

उनमें से अधिकतर लोगों पर बात सत्यापित हो चुकी है। अतः वे ईमान नहीं लाएँगे।

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّا
बेशक हम
جَعَلْنَا
डाल दिए हमने
فِىٓ
उनकी गर्दनों में
أَعْنَٰقِهِمْ
उनकी गर्दनों में
أَغْلَٰلًا
तौक़
فَهِىَ
तो वो
إِلَى
ठोड़ियों तक हैं
ٱلْأَذْقَانِ
ठोड़ियों तक हैं
فَهُم
तो वो
مُّقْمَحُونَ
सर उठाए हुए हैं

Inna ja'alna fee a'naqihim aghlalan fahiya ila alathqani fahum muqmahoona

हमने उनकी गर्दनों में तौक़ डाल दिए है जो उनकी ठोड़ियों से लगे है। अतः उनके सिर ऊपर को उचके हुए है

Tafseer (तफ़सीर )
وَجَعَلْنَا
और बना दी हमने
مِنۢ
उनके सामने से
بَيْنِ
उनके सामने से
أَيْدِيهِمْ
उनके सामने से
سَدًّا
एक दीवार
وَمِنْ
और उनके पीछे से
خَلْفِهِمْ
और उनके पीछे से
سَدًّا
एक दीवार
فَأَغْشَيْنَٰهُمْ
फिर ढाँप दिया हमने उन्हें
فَهُمْ
पस वो
لَا
नहीं वो देख पाते
يُبْصِرُونَ
नहीं वो देख पाते

Waja'alna min bayni aydeehim saddan wamin khalfihim saddan faaghshaynahum fahum la yubsiroona

और हमने उनके आगे एक दीवार खड़ी कर दी है और एक दीवार उनके पीछे भी। इस तरह हमने उन्हें ढाँक दिया है। अतः उन्हें कुछ सुझाई नहीं देता

Tafseer (तफ़सीर )
وَسَوَآءٌ
और बराबर है
عَلَيْهِمْ
उन पर
ءَأَنذَرْتَهُمْ
ख़्वाह डराऐं आप उन्हें
أَمْ
या
لَمْ
ना
تُنذِرْهُمْ
आप डराऐं उन्हें
لَا
नहीं वो ईमान लाऐंगे
يُؤْمِنُونَ
नहीं वो ईमान लाऐंगे

Wasawaon 'alayhim aanthartahum am lam tunthirhum la yuminoona

उनके लिए बराबर है तुमने सचेत किया या उन्हें सचेत नहीं किया, वे ईमान नहीं लाएँगे

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
यासीन
القرآن الكريم:يس
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Ya Sin
सूरा:36
कुल आयत:83
कुल शब्द:729
कुल वर्ण:3000
रुकु:5
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:41
से शुरू आयत:3705