Skip to main content

अल-माइदा आयत ११७ | Al-Maidah 5:117

Not
مَا
नहीं
I said
قُلْتُ
कहा था मैंने
to them
لَهُمْ
उन्हें
except
إِلَّا
मगर
what
مَآ
जो
You commanded me
أَمَرْتَنِى
हुक्म दिया तूने मुझे
[with it]
بِهِۦٓ
जिसका
that
أَنِ
कि
"You worship
ٱعْبُدُوا۟
इबादत करो
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह की
my Lord
رَبِّى
जो रब है मेरा
and your Lord"
وَرَبَّكُمْۚ
और रब है तुम्हारा
And I was
وَكُنتُ
और था मैं
over them
عَلَيْهِمْ
उन पर
a witness
شَهِيدًا
गवाह
that
مَّا
जब तक मैं रहा
as long as I
دُمْتُ
जब तक मैं रहा
(was) among them
فِيهِمْۖ
उनमें
then when
فَلَمَّا
फिर जब
You raised me
تَوَفَّيْتَنِى
फ़ौत कर दिया तूने मुझे
You were
كُنتَ
था तू
[You]
أَنتَ
तू ही
the Watcher
ٱلرَّقِيبَ
निगरान
over them
عَلَيْهِمْۚ
उन पर
and You
وَأَنتَ
और तू
(are) on
عَلَىٰ
ऊपर
every
كُلِّ
हर
thing
شَىْءٍ
चीज़ के
a Witness
شَهِيدٌ
ख़ूब गवाह है

Ma qultu lahum illa ma amartanee bihi ani o'budoo Allaha rabbee warabbakum wakuntu 'alayhim shaheedan ma dumtu feehim falamma tawaffaytanee kunta anta alrraqeeba 'alayhim waanta 'ala kulli shayin shaheedun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

'मैंने उनसे उसके सिवा और कुछ नहीं कहा, जिसका तूने मुझे आदेश दिया था, यह कि अल्लाह की बन्दगी करो, जो मेरा भी रब है और तुम्हारा भी रब है। और जब तक मैं उनमें रहा उनकी ख़बर रखता था, फिर जब तूने मुझे उठा लिया तो फिर तू ही उनका निरीक्षक था। और तू ही हर चीज़ का साक्षी है

English Sahih:

I said not to them except what You commanded me – to worship Allah, my Lord and your Lord. And I was a witness over them as long as I was among them; but when You took me up, You were the Observer over them, and You are, over all things, Witness.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

तूने मुझे जो कुछ हुक्म दिया उसके सिवा तो मैने उनसे कुछ भी नहीं कहा यही कि ख़ुदा ही की इबादत करो जो मेरा और तुम्हारा सबका पालने वाला है और जब तक मैं उनमें रहा उन की देखभाल करता रहा फिर जब तूने मुझे (दुनिया से) उठा लिया तो तू ही उनका निगेहबान था और तू तो ख़ुद हर चीज़ का गवाह (मौजूद) है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

मैंने केवल उनसे वही कहा था, जिसका तूने आदेश दिया था कि अल्लाह की इबादत करो, जो मेरा पालनहार तथा तुम सभी का पालनहार है। मैं उनकी दशा जानता था, जब तक उनमें था और जब तूने मेरा समय पूरा कर दिया[1], तो तू ही उन्हें जानता था और तू प्रत्येक वस्तु से सूचित है।