Skip to main content

अन-नज्म आयत २९ | An-Najm 53:29

So turn away
فَأَعْرِضْ
तो ऐराज़ कीजिए
from
عَن
उससे
(him) who
مَّن
जो
turns away
تَوَلَّىٰ
मुँह मोड़े
from
عَن
हमारे ज़िक्र से
Our Reminder
ذِكْرِنَا
हमारे ज़िक्र से
and not
وَلَمْ
और ना
he desires
يُرِدْ
वो चाहे
except
إِلَّا
मगर
the life
ٱلْحَيَوٰةَ
ज़िन्दगी
(of) the world
ٱلدُّنْيَا
दुनिया की

Faa'rid 'an man tawalla 'an thikrina walam yurid illa alhayata alddunya

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

अतः तुम उसको ध्यान में न लाओ जो हमारे ज़िक्र से मुँह मोड़ता है और सांसारिक जीवन के सिवा उसने कुछ नहीं चाहा

English Sahih:

So turn away from whoever turns his back on Our message and desires not except the worldly life.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

तो जो हमारी याद से रदगिरदानी करे ओर सिर्फ दुनिया की ज़िन्दगी ही का तालिब हो तुम भी उससे मुँह फेर लो

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

अतः, आप विमुख हो जायें उससे, जिसने मुँह फेर लिया है हमारी शिक्षा से तथा वह सांसारिक जीवन ही चाहता है।