Skip to main content

अल-अनाम आयत ३० | Al-Anam 6:30

And if
وَلَوْ
और काश
you (could) see
تَرَىٰٓ
आप देखें
when
إِذْ
जब
they will be made to stand
وُقِفُوا۟
वो खड़े किए जाऐंगे
before
عَلَىٰ
अपने रब के सामने
their Lord
رَبِّهِمْۚ
अपने रब के सामने
He (will) say
قَالَ
वो फ़रमाएगा
"Is not
أَلَيْسَ
क्या नहीं है
this
هَٰذَا
ये
the truth?"
بِٱلْحَقِّۚ
हक़
They will say
قَالُوا۟
वो कहेंगे
"Yes
بَلَىٰ
क्यों नहीं
by our Lord"
وَرَبِّنَاۚ
क़सम है हमारे रब की
He (will) say
قَالَ
वो फ़रमाएगा
"So taste
فَذُوقُوا۟
पस चखो
the punishment
ٱلْعَذَابَ
अज़ाब
because
بِمَا
बवजह उसके जो
you used to
كُنتُمْ
थे तुम
disbelieve"
تَكْفُرُونَ
तुम कुफ़्र करते

Walaw tara ith wuqifoo 'ala rabbihim qala alaysa hatha bialhaqqi qaloo bala warabbina qala fathooqoo al'athaba bima kuntum takfuroona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और यदि तुम देख सकते जब वे अपने रब के सामने खड़े किेए जाएँगे! वह कहेगा, 'क्या यह यर्थाथ नहीं है?' कहेंगे, 'क्यों नही, हमारे रब की क़सम!' वह कहेगा, 'अच्छा तो उस इनकार के बदले जो तुम करते रहें हो, यातना का मज़ा चखो।'

English Sahih:

If you could but see when they will be made to stand before their Lord. He will say, "Is this not the truth?" They will say, "Yes, by our Lord." He will [then] say, "So taste the punishment for what you used to deny."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और (ऐ रसूल) अगर तुम उनको उस वक्त देखते (तो ताज्जुब करते) जब वे लोग ख़ुदा के सामने खड़े किए जाएंगें और ख़ुदा उनसे पूछेगा कि क्या ये (क़यामत का दिन) अब भी सही नहीं है वह (जवाब में) कहेगें कि (दुनिया में) इससे इन्कार करते थे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा यदि आप उन्हें उस समय देखें, जब वे (परलय के दिन) अपने पालनहार के समक्ष खड़े किये जायेंगे, उस समय अल्लाह उनसे कहेगाः क्या ये (जीवन) सत्य नहीं? वे कहेंगेः क्यों नहीं? हमारे पालनहार की शपथ! इसपर अल्लाह कहेगाः तो अब अपने कुफ़्र करने की यातना चखो।