Skip to main content

अल-आराफ़ आयत १८० | Al-Aaraf 7:180

And for Allah
وَلِلَّهِ
और अल्लाह ही के लिए है
(are) the names -
ٱلْأَسْمَآءُ
नाम
the most beautiful
ٱلْحُسْنَىٰ
अच्छे-अच्छे
so invoke Him
فَٱدْعُوهُ
पस पुकारो उसे
by them
بِهَاۖ
साथ उनके
And leave
وَذَرُوا۟
और छोड़ दो
those who
ٱلَّذِينَ
उन्हें जो
deviate
يُلْحِدُونَ
कज रवी करते हैं
concerning
فِىٓ
उसके नामों में
His names
أَسْمَٰٓئِهِۦۚ
उसके नामों में
They will be recompensed
سَيُجْزَوْنَ
अनक़रीब वो बदला दिए जाऐंगे
for what
مَا
उसका जो
they used to
كَانُوا۟
थे वो
do
يَعْمَلُونَ
वो अमल करते

Walillahi alasmao alhusna faod'oohu biha watharoo allatheena yulhidoona fee asmaihi sayujzawna ma kanoo ya'maloona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

अच्छे नाम अल्लाह ही के है। तो तुम उन्हीं के द्वारा उसे पुकारो और उन लोगों को छोड़ो जो उसके नामों के सम्बन्ध में कुटिलता ग्रहण करते है। जो कुछ वे करते है, उसका बदला वे पाकर रहेंगे

English Sahih:

And to Allah belong the best names, so invoke Him by them. And leave [the company of] those who practice deviation concerning His names. They will be recompensed for what they have been doing.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और अच्छे (अच्छे) नाम ख़ुदा ही के ख़ास हैं तो उसे उन्हीं नामों में पुकारो और जो लोग उसके नामों में कुफ्र करते हैं उन्हें (उनके हाल पर) छोड़ दो और वह बहुत जल्द अपने करतूत की सज़ाएं पाएंगें

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और अल्लाह ही के शुभ नाम हैं, अतः उसे उन्हीं के द्वारा पुकारो और उन्हें छोड़ दो, जो उसके नामों में परिवर्तन[1] करते हैं, उन्हें शीघ्र ही उनके कुकर्मों का कुफल दे दिया जायेगा।