Skip to main content

अल-आराफ़ आयत ५० | Al-Aaraf 7:50

And (will) call out
وَنَادَىٰٓ
और पुकारेंगे
(the) companions
أَصْحَٰبُ
आग वाले
(of) the Fire
ٱلنَّارِ
आग वाले
(to the) companions
أَصْحَٰبَ
जन्नत वालों को
(of) Paradise
ٱلْجَنَّةِ
जन्नत वालों को
[that]
أَنْ
कि
"Pour
أَفِيضُوا۟
डालो
upon us
عَلَيْنَا
हम पर
[of]
مِنَ
कुछ पानी
(some) water
ٱلْمَآءِ
कुछ पानी
or
أَوْ
या
of what
مِمَّا
उससे जो
(has been) provided (to) you"
رَزَقَكُمُ
रिज़्क़ दिया तुम्हें
(by) Allah"
ٱللَّهُۚ
अल्लाह ने
They (will) say
قَالُوٓا۟
वो कहेंगे
"Indeed
إِنَّ
बेशक
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह ने
has forbidden both
حَرَّمَهُمَا
हराम कर दिया उन दोनों को
to
عَلَى
काफ़िरों पर
the disbelievers
ٱلْكَٰفِرِينَ
काफ़िरों पर

Wanada ashabu alnari ashaba aljannati an afeedoo 'alayna mina almai aw mimma razaqakumu Allahu qaloo inna Allaha harramahuma 'ala alkafireena

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

आगवाले जन्नतवालों को पुकारेंगे कि ,'थोड़ा पानी हमपर बहा दो, या उन चीज़ों में से कुछ दे दो जो अल्लाह ने तुम्हें दी हैं।' वे कहेंगे, 'अल्लाह ने तो ये दोनों चीज़ें इनकार करनेवालों के लिए वर्जित कर दी है।'

English Sahih:

And the companions of the Fire will call to the companions of Paradise, "Pour upon us some water or from whatever Allah has provided you." They will say, "Indeed, Allah has forbidden them both to the disbelievers

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और दोज़ख वाले अहले बेहिश्त को (लजाजत से) आवाज़ देगें कि हम पर थोड़ा सा पानी ही उंडेल दो या जो (नेअमतों) खुदा ने तुम्हें दी है उसमें से कुछ (दे डालो दो तो अहले बेहिश्त जवाब में) कहेंगें कि ख़ुदा ने तो जन्नत का खाना पानी काफिरों पर कतई हराम कर दिया है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा नरकवासी स्वर्गवासियों को पुकारेंगे कि हमपर तनिक पानी डाल दो अथवा जो अल्लाह ने तुम्हें प्रदान किया है, उसमें से कुछ दे दो। वे कहेंगे कि अल्लाह ने ये दोनों (आज) काफ़िरों के लिए ह़राम (वर्जित) कर दिया है।