Skip to main content

अल-अन्फाल आयत ११ | Al-Anfal 8:11

When
إِذْ
जब
He covered you
يُغَشِّيكُمُ
उसने ढांप दी तुम पर
with [the] slumber
ٱلنُّعَاسَ
ऊँघ
a security
أَمَنَةً
अमन के लिए
from Him
مِّنْهُ
उसकी तरफ़ से
and sent down
وَيُنَزِّلُ
और वो उतार रहा था
upon you
عَلَيْكُم
तुम पर
from
مِّنَ
आसमान से
the sky
ٱلسَّمَآءِ
आसमान से
water
مَآءً
पानी
so that He may purify you
لِّيُطَهِّرَكُم
ताकि वो पाक कर दे तुम्हें
with it
بِهِۦ
साथ उसके
and take away
وَيُذْهِبَ
और वो ले जाए
from you
عَنكُمْ
तुमसे
evil (suggestions)
رِجْزَ
नजासत
(of) the Shaitaan
ٱلشَّيْطَٰنِ
शैतान की
And to strengthen
وَلِيَرْبِطَ
और ताकि वो मज़बूत कर दे
[on]
عَلَىٰ
तुम्हारे दिलों को
your hearts
قُلُوبِكُمْ
तुम्हारे दिलों को
and make firm
وَيُثَبِّتَ
और वो जमा दे
with it
بِهِ
साथ उसके
your feet
ٱلْأَقْدَامَ
क़दमों को

Ith yughashsheekumu alnnu'asa amanatan minhu wayunazzilu 'alaykum mina alssamai maan liyutahhirakum bihi wayuthhiba 'ankum rijza alshshaytani waliyarbita 'ala quloobikum wayuthabbita bihi alaqdama

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

यह करो जबकि वह अपनी ओर से चैन प्रदान कर तुम्हें ऊँघ से ढँक रहा था और वह आकाश से तुमपर पानी बरसा रहा था, ताकि उसके द्वारा तुम्हें अच्छी तरह पाक करे और शैतान की गन्दगी तुमसे दूर करे और तुम्हारे दिलों को मज़बूत करे और उसके द्वारा तुम्हारे क़दमों को जमा दे

English Sahih:

[Remember] when He overwhelmed you with drowsiness [giving] security from Him and sent down upon you from the sky, rain by which to purify you and remove from you the evil [suggestions] of Satan and to make steadfast your hearts and plant firmly thereby your feet.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

ये वह वक्त था जब अपनी तरफ से इत्मिनान देने के लिए तुम पर नींद को ग़ालिब कर रहा था और तुम पर आसमान से पानी बरस रहा था ताकि उससे तुम्हें पाक (पाकीज़ा कर दे और तुम से शैतान की गन्दगी दूर कर दे और तुम्हारे दिल मज़बूत कर दे और पानी से (बालू जम जाए) और तुम्हारे क़दम ब क़दम (अच्छी तरह) जमाए रहे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और वह समय याद करो जब अल्लाह अपनी ओर से शान्ति के लिए तुमपर ऊँघ डाल रहा था और तुमपर आकाश से जल बरसा रहा था, ताकि तुम्हें स्वच्छ कर दे और तुमसे शैतान की मलीनता दूर कर दे और तुम्हारे दिलों को साहस दे और (तुम्हारे) पाँव जमा दे[1]।