Skip to main content

अल-इन्शिकाक आयत १६ | Al-Inshiqaq 84:16

But nay!
فَلَآ
पस नहीं
I swear
أُقْسِمُ
मैं क़सम खाता हूँ
by the twilight glow
بِٱلشَّفَقِ
शफ़क़ की

Fala oqsimu bialshshafaqi

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

अतः कुछ नहीं, मैं क़सम खाता हूँ सांध्य-लालिमा की,

English Sahih:

So I swear by the twilight glow

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

तो मुझे शाम की मुर्ख़ी की क़सम

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

मैं सन्ध्या लालिमा की शपथ लेता हूँ!