Skip to main content

अल-इन्शिकाक आयत १७ | Al-Inshiqaq 84:17

And the night
وَٱلَّيْلِ
और रात की
and what
وَمَا
और उसकी जिसे
it envelops
وَسَقَ
वो समेट ले

Waallayli wama wasaqa

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और रात की और उसके समेट लेने की,

English Sahih:

And [by] the night and what it envelops

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और रात की और उन चीज़ों की जिन्हें ये ढाँक लेती है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा रात की और जिसे वह एकत्र करे!