Skip to main content

अत-तौबा आयत १११ | At-Taubah 9:111

Indeed
إِنَّ
बेशक
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह ने
(has) purchased
ٱشْتَرَىٰ
ख़रीद लीं
from
مِنَ
मोमिनों से
the believers
ٱلْمُؤْمِنِينَ
मोमिनों से
their lives
أَنفُسَهُمْ
जानें उनकी
and their wealth
وَأَمْوَٰلَهُم
और माल उनके
because
بِأَنَّ
बवजह उसके कि
for them
لَهُمُ
उनके लिए
(is) Paradise
ٱلْجَنَّةَۚ
जन्नत है
They fight
يُقَٰتِلُونَ
वो जंग करते हैं
in
فِى
अल्लाह के रास्ते मे
(the) way
سَبِيلِ
अल्लाह के रास्ते मे
(of) Allah
ٱللَّهِ
अल्लाह के रास्ते मे
they slay
فَيَقْتُلُونَ
फिर वो मारते हैं
and they are slain
وَيُقْتَلُونَۖ
और वो मारे जाते हैं
A promise
وَعْدًا
वादा है
upon Him
عَلَيْهِ
उसके ज़िम्मे
true
حَقًّا
सच्चा
in
فِى
तौरात में
the Taurat
ٱلتَّوْرَىٰةِ
तौरात में
and the Injeel
وَٱلْإِنجِيلِ
और इन्जील
and the Quran
وَٱلْقُرْءَانِۚ
और क़ुरआन में
And who
وَمَنْ
और कौन
(is) more faithful
أَوْفَىٰ
ज़्यादा पूरा करने वाला है
to his promise
بِعَهْدِهِۦ
अपने अहद को
than
مِنَ
अल्लाह से
Allah?
ٱللَّهِۚ
अल्लाह से
So rejoice
فَٱسْتَبْشِرُوا۟
पस ख़ुशियाँ मनाओ
in your transaction
بِبَيْعِكُمُ
अपने सौदे पर
which
ٱلَّذِى
वो जो
you have contracted
بَايَعْتُم
सौदा किया तुमने
[with it]
بِهِۦۚ
साथ उसके
And that
وَذَٰلِكَ
और ये
it
هُوَ
वो ही है
(is) the success
ٱلْفَوْزُ
कामयाबी
the great
ٱلْعَظِيمُ
बहुत बड़ी

Inna Allaha ishtara mina almumineena anfusahum waamwalahum bianna lahumu aljannata yuqatiloona fee sabeeli Allahi fayaqtuloona wayuqtaloona wa'dan 'alayhi haqqan fee alttawrati waalinjeeli waalqurani waman awfa bi'ahdihi mina Allahi faistabshiroo bibay'ikumu allathee baya'tum bihi wathalika huwa alfawzu al'atheemu

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

निस्संदेह अल्लाह ने ईमानवालों से उनके प्राण और उनके माल इसके बदले में खरीद लिए है कि उनके लिए जन्नत है। वे अल्लाह के मार्ग में लड़ते है, तो वे मारते भी है और मारे भी जाते है। यह उनके ज़िम्मे तौरात, इनजील और क़ुरआन में (किया गया) एक पक्का वादा है। और अल्लाह से बढ़कर अपने वादे को पूरा करनेवाला हो भी कौन सकता है? अतः अपने उस सौदे पर खु़शियाँ मनाओ, जो सौदा तुमने उससे किया है। और यही सबसे बड़ी सफलता है

English Sahih:

Indeed, Allah has purchased from the believers their lives and their properties [in exchange] for that they will have Paradise. They fight in the cause of Allah, so they kill and are killed. [It is] a true promise [binding] upon Him in the Torah and the Gospel and the Quran. And who is truer to his covenant than Allah? So rejoice in your transaction which you have contracted. And it is that which is the great attainment.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

इसमें तो शक़ ही नहीं कि ख़ुदा ने मोमिनीन से उनकी जानें और उनके माल इस बात पर ख़रीद लिए हैं कि (उनकी क़ीमत) उनके लिए बेहश्त है (इसी वजह से) ये लोग ख़ुदा की राह में लड़ते हैं तो (कुफ्फ़ार को) मारते हैं और ख़ुद (भी) मारे जाते हैं (ये) पक्का वायदा है (जिसका पूरा करना) ख़ुदा पर लाज़िम है और ऐसा पक्का है कि तौरैत और इन्जील और क़ुरान (सब) में (लिखा हुआ है) और अपने एहद का पूरा करने वाला ख़ुदा से बढ़कर कौन है तुम तो अपनी ख़रीद फरोख्त से जो तुमने ख़ुदा से की है खुशियाँ मनाओ यही तो बड़ी कामयाबी है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

निःसंदेह अल्लाह ने ईमान वालों के प्राणों तथा उनके धनों को इसके बदले ख़रीद लिया है कि उनके लिए स्वर्ग है। वे अल्लाह की राह में युध्द करते हैं, वे मारते तथा मरते हैं। ये अल्लाह पर सत्य वचन है, तौरात, इंजील और क़ुर्आन में और अल्लाह से बढ़कर अपना वचन पूरा करने वाला कौन हो सकता है? अतः, अपने इस सौदे पर प्रसन्न हो जाओ, जो तुमने किया और यही बड़ी सफलता है।